सेडान कार क्या होता है? What are Sedan Cars

कार खरीदना लगभग हर किसी का सपना होता है। और सभी की पसंद की कार भी अलग अलग होती है। कोई हैचबैक लेना चाहता है। तो कोई एक एसयूवी लेना ज्यादा पसंद करता है। वहीं कुछ Sedan कार लेना चाहता है।

बहुत से लोग तो Hatchback, SUVs, Crossover और Sedan क्या होती है? यह भी नहीं जानते हैं। हम आपको बता दें कि ये सब four wheeler कार की category है।

हम अपने आस पास जो भी चार पहिया वाहन देखते हैं। वे सभी इन्हीं में से किसी एक कैटेगरी की चार पहिया वाहन होती है। भारतीय मार्केट में ऐसी गाड़ियां बहुत सारी है।

Sedan Cars

इस आर्टिकल में हम जिस कार कैटेगरी के बारे में जानने वाले हैं। उसका नाम है Sedan। इस आर्टिकल में हम सेडान कार क्या होता है? What are Sedan Cars के बारे में जानेंगे। ये दिखने में कैसी हाेती है? इसे लेना चाहिए या नहीं। आदि के बारे में हम इस आर्टिकल में जानेंगे।


सेडान कार क्या होता है? (What are Sedan Cars in Hindi)

Sedan Car उस कार को कहते हैं। जिसमें तीन कक्ष होते हैं। पहले कक्ष में बोनट जिसमें इंजिन होता है। दूसरे कक्ष में सवारी बैठते हैं। और तीसरे कक्ष में प्रायः सामान रखने के लिए काफी ज्यादा जगह उपलब्ध होती है। इन कारों को थ्री बॉक्स कार और सैलून कार भी कहा जाता है।

सेडान कार में चार दरवाजे होते हैं। सभी दरवाजे आगे की तरफ से खुलते हैं। इन कारों में यात्रियों के बैठने के लिए दो कतारों में जगह होती है। इनकी लंबाई 4 मीटर के आसपास होती है। और यह दिखने में काफी ज्यादा लंबी होती है।

कारों में सबसे ज्यादा कम्फर्ट और ड्राइविंग एक्सपीरियंस सेडान कारों में ही होता है। इन्हें बहुत लक्जरी तरीके से डिज़ाइन किया जाता है। इनका Ground Clearance बहुत कम होता है। इसके चलते इनका road presence बहुत अच्छा होता है। ये बहुत ज्यादा spacious होते हैं।


Sedan

भारत में मिलने वाली कुछ सेडान कारें (Some Sedan Cars in India)

  1. Maruti Ciaz
  2. Maruti Dzire
  3. Hyundai Verna
  4. Hyundai Aura
  5. Ford Aspire
  6. Audi A4
  7. Toyota Yaris
  8. Tata Tigor
  9. Honda Amaze
  10. Hyundai Xcent


सेडान कार लेने के क्या फायदे हैं?

Looks: अगर लुक्स की बात करें। तो सेडान कारें हैचबैक और एसयूवी से काफी सुंदर डिज़ाइन की हुई होती है। इन के interior और exterior बहुत ही अच्छे होते हैं।

Engine Power: सेडान कारों की इंजिन पॉवर आपको हैचबैक की तुलना में ज्यादा मिल जाती है। इसके साथ ही इनके इंजिन काफी ज्यादा रिफाइंड होती है। जिससे कार में बैठे पैसेंजर्स को कोई vibration सुनाई नहीं पड़ती है। ये कारें सिटी और हाईवे में बहुत smoothly से चलती है।

Boot Space: इन कारों की बूट स्पेस हैचबैक, एसयूवी और बाकि कारों की तुलना में काफी ज्यादा होती है। यह एक पारिवारिक कार है। जिसमें एक साथ 4-5 लोग बड़े comfortable के साथ बैठ सकते हैं। कुछ सेडान कारों में तो आपको 500 लीटर से भी ज्यादा की बूट स्पेस मिल जाती है। जैसे कि Honda City, Maruti Ciaz आदि।

Features: सेडान कारों में आपको best in class के बहुत सारे फीचर्स मिल जाते हैं। इन कारों में आपको एक हैचबैक और एसयूवी से भी ज्यादा फीचर्स मिल जाते हैं। 


सेडान कार लेने के क्या नुकसान हैं?

Costly: Sedan कारें हैचबैक कारों की तुलना में ज्यादा कीमती होती है। जिसे कि एक मध्य वर्गीय परिवार के लिए afford कर पाना मुश्किल होता है। 

Low Mileage: इन कारों में आपको हैचबैक कारों की तुलना में कम माइलेज मिलता है। वो इसलिए क्योंकि इन कारों का वजन हैचबैक कारों से ज्यादा होता है। और इनके साथ ही इनमें ज्यादा पॉवरफुल के इंजिन लगे हुए होते हैं।

Big Parking Space: इन्हें पार्क करना एक कठिन काम होता है। ये काफी ज्यादा स्पेस में पार्क होती है। अगर आप किसी ऐसी जगह पर रहते हैं। जहां पार्किंग एरिया की कमी है। तो आपके लिए हैचबैक ही अच्छी है न कि एक सेडान।

Maintenance: इसमें एक हैचबैक की तुलना में ज्यादा components लगे हुए होते हैं। इसके चलते इन कारों के मेंटेनेंस की cost ज्यादा होती है। इसके साथ ही इनकी रीसेल वैल्यू भी एक हैचबैक की तुलना में कम होती है।


सेडान और एसयूवी में क्या अंतर है? (Sedan vs SUV in Hindi)

SUVs कारें जिन्हें की Sports Utility Vehicle कहा जाता है। यह एक ऑफ रोडर व्हीकल होती है। जिसे कि आप शहरों, गांवों, पहाड़ी इलाकों, पथरीली रास्तों आदि जगहों पर भी आसानी से चला सकते हैं। इनके पहिए काफी बड़े और इंजिन बहुत ज्यादा पॉवरफुल होती है।

Sedan Cars को सिर्फ शहरों और हाईवे पर चलाने के लिए बनाई गई होती है। इन्हें आप ऑफ रोडिंग करने के लिए उपयोग में नहीं ला सकते हैं। इनका ग्राउंड क्लियरेंस एसयूवी कारों की तुलना में कम होता है। जिससे कि इनके निछले भाग के जमीन से टकराने के चांसेज ज्यादा होते हैं।

SUVs कारों में भी 4-5 लोगों के बैठने की जगह होती है। वहीं कुछ SUVs जैसे Ford Endeavor और Toyota Fortuner में तो 5-7 लोगों के बैठने की सुविधा होती है। ये सेडान कारों की तुलना में वजनी होती है। जिसके चलते इनका माइलेज सेडान कारों की तुलना में कम होता है।


हैचबैक कारें क्या होती है?

Hatchback कारें चार पहिया वाहनों की श्रेणी में सबसे छोटी होती है। इन्हें 2 बॉक्स कार कहते हैं। जिसमें पहले बॉक्स में (बोनट) इंजिन होता है। दूसरे बॉक्स में पैसेंजर्स बैठते हैं। इन कारों में सामान रखने के लिए कोई extra कैबिन नहीं होता है। ये सेडान कारों से सस्ती होती है।

इसके साथ साथ हैचबैक कारों का माइलेज भी सेडान और एसयूवी कारों से ज्यादा होता है। यह बहुत कम जगह में भी आसानी से पार्क हो जाती है। इनका मेंटेनेंस cost भी SUVs और Sedan कारों की तुलना में कम होती है। साथ ही इनका रीसेल वैल्यू भी इन कारों से ज्यादा होती है। 

कार कंपनियां भारतीय मार्केट में हार साल तरह तरह की गाड़ियों को लांच करती है। जैसे SUVs, Crossover, Sedan, Hatchback आदि। प्रायः इन सभी कारों की कीमतें तो अलग होती ही है। साथ ही इनकी body type और उपयोग करने का तरीका भी अलग अलग होता है।

हैचबैक और सेडान जैसी कारें सड़कों पर चलाने के लिए बनाई गई होती है। ये पूरी तरह से पारिवारिक कार होती है। जहां 4 से 5 लोग आसानी से बैठ कर ट्रैवल कर सकें।

वहीं SUVs जैसी गाड़ियां उन लोगों के लिए बनाई जाती है। जो ऑफ रोडिंग के शौकीन होते है। जिन्हें बहुत ज्यादा ऑफ रोडिंग करने की जरूरत पड़ती है। ये उन जगहों पर भी चलाने के लिए बनाई जाती है। जहां सड़कें भी नहीं होती है। ये पूर्ण रूप से ऑफ रोडिंग के लिए होती है। 

जैसे कि हमनें आपको बताया की SUVs जैसी गाड़ियों को आप खराब रास्तों, पहाड़ी इलाकों और सड़कों पर आसानी से चला सकते हैं। लेकीन हैचबैक और सेडान कारों से आप ऐसा नहीं कर सकते हैं। ये पूर्ण रूप से शहरों के लिए होती है। जिसे सिर्फ शहरों और अच्छे रस्तों पर चलाया जाता है।


निष्कर्ष

Sedan जिसे सैलून कार भी कहते हैं। इनमें तीन कक्ष होते हैं। पहले में इंजिन, दूसरे में पैसेंजर्स और तीसरे कक्ष में सामान रखने के लिए अच्छी खासी जगह होती है। ये कारें लंबी होती है। जो कि शहरों में चलाने के लिए बनाई जाती है। इनमें बहुत ज्यादा comfortable सीटें हुआ करती है।

इनमें चार से पांच लोग आसानी से बिना किसी परेशानी के आसानी से बैठ सकते हैं। ये दिखने में ज्यादा spacious होती है। इनके इंटीरियर से लेकर एक्सटीरियर को काफी ज्यादा पसंदीदा बनाया जाता है। भारत में सेडान कारें 10 से 15 लाख के रेंज में आसानी से मिल जाती है। Maruti Ciaz, Desire, Honda Amaze, इनमें प्रमुख कारें हैं।

आपको कौन सी कार लेनी चाहिए? ये पूरी तरह से आप पर निर्भर करती है। आप अपने जरूरत के हिसाब से ही कोई भी कार खरीदें। अगर आप शहरों में रहते हैं। तो आप एक हैचबैक या फिर एक सेडान खरीद सकते हैं। वहीं अगर आपको ऑफ रोडिंग करने की जरूरत पड़ती है। तो आप एक compact एसयूवी कार को खरीद सकते हैं। बाकि सब आप की अपनी पसंद पर निर्भर करती है।

इस आर्टिकल में हमनें आपको बताया कि सेडान कार क्या होता है? What are Sedan Cars in Hindi। आपको यह पोस्ट कैसी लगी? हमें कॉमेंट करके जरूर बताएं।

अगर आपके लिए यह पोस्ट फायदेमंद साबित हुई हो। तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्त, भाई, रिश्तेदारों को शेयर कर सकते हैं। जो कि कोई कार लेने के बारे में सोच रहे हों।

धन्यवाद!


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ