Guest Post क्या है? और Guest Post कैसे करें

Guest Post या Guest Blogging Off Page SEO का एक हिस्सा है। इसमें दूसरे के ब्लॉग पर guest post करके अपनी ब्लॉग के लिए Backlinks बनाया जाता है। अगर आप ब्लॉगिंग में नए हैं। और आप अपने ब्लॉग और वेबसाइट के लिए traffic बढ़ाना चाहते हैं। तो इसके लिए आप अपने से मिलते जुलते टॉपिक वाली ब्लॉग पर guest post करके अपने ब्लॉग की traffic को बढ़ा सकते हैं।

Guest Post kya hai


इस आर्टिकल में हम Guest Blogging के बारे में जानने वाले हैं। जानेंगे कि Guest Post क्या है? और Guest Post कैसे करें? इसके क्या फायदे हैं? Guest Post कैसे लिखें? किन बातों को ध्यान में रखकर हम दूसरे के ब्लॉग या वेबसाइट में अपनी पोस्ट को पब्लिश कर सकते हैं? आदि के बारे में हम इस आर्टिकल में जानने वाले हैं।


Guest Post क्या है? ( What is Guest Post in SEO Hindi )

Guest Post में अपने लिखें आर्टिकल को किसी दूसरे के ब्लॉग पर पब्लिश करना होता है। जो हमारे ब्लॉग के topic से मिलती जुलती है। जब हम अपने ब्लॉग पर आर्टिकल पब्लिश करते हैं। तो वह Post कहलाता है। वहीं जब हम अपने आर्टिकल को किसी दूसरे के ब्लॉग या वेबसाइट पर पब्लिश करते हैं। तो वह Guest Post कहलाता है।

Guest Post के लिए हम किसी ऐसे ब्लॉग या वेबसाइट को चुनते हैं। जो हमारे टॉपिक से मैच करती है। उनसे हम contact करते हैं। और उनके ब्लॉग पर अपनी आर्टिकल को पोस्ट करने के लिए हम उन्हें approach करते हैं।

Guest Post से हमें हमारे ब्लॉग के लिए बैकलिंक मिलती है। इससे हमारे ब्लॉग और वेबसाइट की traffic बढ़ती है। जो कि हमारे ब्लॉग की रैंकिंग के लिए बहुत अच्छी होती है। इससे हमारे ब्लॉग और वेबसाइट की अथॉरिटी बढ़ती है।


Guest Post कैसे करें?

कोई भी ब्लॉग या फिर वेबसाइट जल्दी से Guest Post accept नहीं करती है। वो इसलिए क्योंकि इससे एक वेबसाइट की अथॉरिटी और ट्रैफिक दूसरे वेबसाइट से लिंक करने पर transfer हो जाती है। इसलिए थोड़ा धैर्य रखें।

हालांकि अभी भी बहुत से ऐसे ब्लॉग्स और वेबसाइट्स हैं। जो अपने Terms and Conditions पर guest post accept करती है। नीचे कुछ पॉइंट्स बताएं गए हैं। जिसे ध्यान में रखकर और फॉलो करके आप अपने ब्लॉग और वेबसाइट के लिए एक अच्छी guest post कर सकते हैं।

Related Blogs को चुनें

अगर आप Guest Post करना चाहते हैं। तो सबसे पहले अपने टॉपिक से related ब्लॉग्स या वेबसाइट्स को चुनें। जो आपके ब्लॉग के एकदम relevant हो या आपके ब्लॉग से मैच करती हो। इसमें relevancy का ध्यान जरूर रखें।

वो इसलिए क्योंकि अगर आपकी वेबसाइट ब्लॉगिंग पर है। और आपको एक high अथॉरिटी वाली fitness वेबसाइट से बैकलिंक मिलती है। तो ऐसी वेबसाइट की Backlinks आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बिल्कुल भी उपयोगी नहीं होगी। इसमें दोनों का आपस में कोई मेल नहीं है।

इसके साथ ही अगर आप अपने ब्लॉग में हिंदी में आर्टिकल लिखते हैं। तो किसी दूसरे हिंदी वाले ब्लॉग पर ही guest post करें। अपने से मिलते जुलते ब्लॉग्स खोजने के लिए आप गूगल का सहारा ले सकते हैं। आप अपने ब्लॉग से related keywords को सर्च करके अपने से मिलते जुलते ब्लॉग्स को देखें। उनमें से आपको कुछ ऐसे ब्लॉग्स जरूर मिलेंगे। जो guest post accept करती होगी।


Domain Authority और Page Authority चेक करें

जब आपको अपने ब्लॉग के टॉपिक से मिलते जुलते ब्लॉग्स मिल जाए। तो आप उन ब्लॉग्स की domain authority ( DA ), page authority ( PA ) और spam score जरूर चेक करें। इसके लिए आप websiteseochecker टूल का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप उन ब्लॉग्स को चुनें। जिसकी DA, PA अच्छी हो। और जिसका spam score 1-30% जितना या इससे कम ही हो ऐसे ब्लॉग्स को चुनें।

यह बहुत जरूरी है कि आप guest post accept करने वाली वेबसाइट की DA, PA और spam score जरूर चेक करें। अगर आपको एक high DA, PA वाली साइट से बैकलिंक मिलती है। तो इससे आपके ब्लॉग, वेबसाइट की अथॉरिटी भी बढ़ेगी। जो ब्लॉग के लिए अच्छी होती है।

आप सबसे पहले अपने ब्लॉग और वेबसाइट की DA, PA चेक करें। अगर आपकी नयी वेबसाइट है। तो उसका DA और PA ज्यादा नहीं होगी। आप उन ब्लॉग्स और वेबसाइट पर guest post सबमिट करने की कोशिश करें। जो कि आपके ब्लॉग के DA, PA से मेल खाती हो या जिसकी DA और PA आपके ब्लॉग से अच्छी हो। ताकि ऐसे ब्लॉग से मिलने वाली बैकलिंक, एक क्वालिटी बैकलिंक हो।


Guest Post के लिए approach करें

अपने ब्लॉग के टॉपिक से मिलते जुलते ब्लॉग्स खोजने और उन ब्लॉग्स की DA, PA चेक करने के बाद आप उन्हें उनके ब्लॉग पर guest post करने के लिए आग्रह करें। Guest Post accept करने वाली वेबसाइट पोस्ट accept करने के लिए कुछ समय लगाती है। इसलिए थोड़ा धैर्य रखें।

जब आप अपने पोस्ट को दूसरे के ब्लॉग पर पब्लिश करने के लिए भेजते हैं। तो पब्लिश करने वाली वेबसाइट आपके लिखे content, आपके आर्टिकल को पूरी तरह से चेक करती है। जब उन्हें आपकी पोस्ट valuable लगती है। तब वे अपने वेबसाइट में आपकी पोस्ट को पब्लिश करते हैं।


Quality Content लिखें

आप अपने ब्लॉग की Content Quality के साथ साथ guest post accept करने वाली ब्लॉग की भी कंटेंट क्वॉलिटी को चेक करें। अपने ब्लॉग पर अच्छी क्वॉलिटी कंटेंट लिखना जरूरी होता है। जो यूजर्स के लिए हर तरह से फायदेमंद साबित होती हो। जिसमें यूजर्स के लिए अच्छी useful जानकारियां लिखी गयी हो। और जिसे पढ़कर यूजर्स को कुछ अच्छा experience प्राप्त होता हो।

आप कंटेंट की लंबाई को बढ़ाने के लिए कंटेंट की क्वालिटी से समझौता न करें। आप चाहें बहुत बड़ी पोस्ट लिखते हो या 800 से 1500 words तक की पोस्ट लिखते हो। वह यूजर्स को अच्छे से समझ में आती हो। जिसे पढ़कर यूजर्स को कुछ न कुछ अच्छी जानकारियां जरूर मिलती हो।


SEO Friendly आर्टिकल लिखें

अपने लिखें आर्टिकल को यूजर्स और सर्च इंजन के लिए optimized करना होता है। तभी आर्टिकल गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस ( SERPs ) में रैंक करती है। आप चाहें guest post के लिए आर्टिकल लिख रहे हों या फिर अपनी वेबसाइट के लिए ही आर्टिकल लिख रहे हों। आप जो भी आर्टिकल लिखें उसे SEO friendly जरुर बनाएं।

अपनी पोस्ट को SEO friendly आर्टिकल बनाने के लिए आप अपने आर्टिकल में images, infographics और videos का भी यूज कर सकते हैं। अपने keyword को सही जगह पर रखें। जरूरत से ज्यादा keyword का यूज न करें। जिससे कि keyword stuffing हो जाए।

आप अपने आर्टिकल को अच्छी तरह से डिजाइन करें। उस में किसी भी तरह की गलत SEO techniques को यूज में न लें। छोटे छोटे paragraphs में आर्टिकल लिखें। ऐसा आर्टिकल लिखें। जो कहीं से भी यह नहीं लगती हो कि पोस्ट सिर्फ रैंकिंग और बैकलिंक लेने के लिए ही लिखी गई है। ऐसा करने पर आपकी पोस्ट reject हो सकती है।


यहां तक हमने guest post कैसे करते हैं? के बारे में जाना। आइए जानते हैं कि एक गेस्ट पोस्ट कैसे लिखते हैं? किन बातों को ध्यान में रखकर हम एक बेहतर पोस्ट लिख सकते हैं। क्या avoid करनी चाहिए? ताकि दूसरे के ब्लॉग, वेबसाइट पर हमारी पोस्ट आसानी से पब्लिश हो सकें।


Guest Post कैसे लिखें? ( How to write Guest Post in SEO Hindi )

यह पूरी की पूरी Guest Post accept करने वाली ब्लॉग पर निर्भर करती है। जो ब्लॉग या वेबसाइट अपने वेबसाइट पर guest post accept करती है। उनकी अपनी कुछ guidelines होती है। जिसे फॉलो करने पर ही हमारी पोस्ट उनकी ब्लॉग और वेबसाइट पर पब्लिश होती है।

सभी ब्लॉग और वेबसाइट की गेस्ट पोस्ट की guidelines अलग अलग हो सकती है। हालांकि जो common है। जो सभी ब्लॉग्स अपने गाइडलाइंस पर mention करती है। उनके बारे में हमने नीचे बताया है। जिसे आप अपनी पोस्ट सबमिट करने में पहले ध्यान में रख सकते हैं।

Content Length

Guest Post करने के लिए content की length क्या होनी चाहिए? यह पोस्ट accept करने वाली वेबसाइट के guideline पर लिखी हुई होती है। यह 800-1500 वर्ड्स या इससे भी ज्यादा हो सकती है। चाहें कितनी ही बड़ी या छोटी length वाली कंटेंट लिखने के बारे में कहा गया हो। आप अपने content की क्वालिटी को बेहतर बनाएं रखें।


Unique Content लिखें

यह सभी ब्लॉग्स के Guest Post की गाइडलाइंस पर common होती है। पोस्ट accept करने वाली वेबसाइट किसी भी ऐसे कंटेंट को accept नहीं करती है। जो पहले से ही किसी ब्लॉग पर पब्लिश की हुई होती है। जो पहले से ही गूगल के database में index है। आप कभी भी ऐसे कंटेंट को guest post के लिए न भेजें। जो unique न हो। आप हमेशा नए और fresh content ही भेजें।

आप अपने ब्लॉग पर और दूसरे के ब्लॉग पर भी unique कंटेंट ही लिखें। अगर आप कहीं से कॉपी करके guest post के लिए कंटेंट भेजते हैं। तो वह कंटेंट कभी भी किसी भी ब्लॉग और वेबसाइट द्वारा accept नहीं की जायेगी। इससे आपकी request cancel हो सकती है। इसलिए आप खुद से ही आर्टिकल लिखें। जो पूरी तरह से unique हो। जिसे accept करने में, और उसे दूसरे के ब्लॉग और वेबसाइट में पब्लिश करने में कोई परेशानी न होती हो।


Copyright Free Images का यूज करें

आप अपने ब्लॉग के आर्टिकल में और guest post वाले आर्टिकल में कॉपीराइट फ्री इमेजेस का ही यूज करें। आप किसी ऐसे वेबसाइट की इमेजेस को आर्टिकल में यूज करें। जिसे यूज करने पर आपको कोई कॉपीराइट issue न हो।

कॉपीराइट फ्री इमेजेस के लिए हमने पहले से copyright free images websites की आर्टिकल लिखी है। आप इस आर्टिकल को पढ़कर अपने किसी भी ब्लॉग या फिर वेबसाइट के लिए फ्री कॉपीराइट इमेजेस डाउनलोड कर सकते हैं। इसमें आप इमेजेस के साथ साथ विडियोज को भी डाउनलोड करके अपने ब्लॉग में यूज कर सकते हैं।


सही जानकारी लिखें

आप जो भी पोस्ट अपनी ब्लॉग या वेबसाइट पर पब्लिश करते हैं। उनमें सही जानकारी ही लिखें। यह वेबसाइट के trust को बढ़ाने का काम करती है। साथ ही इससे अच्छी रैंकिंग भी मिलती है। इस बात को और भी ज्यादा ध्यान में रखने की जरूरत तब होती है। जब हमारी पोस्ट किसी दूसरे ब्लॉग या फिर वेबसाइट पर पब्लिश की जाती है।

जब हमारे लिखे पोस्ट में अच्छी जानकारी होगी। जिससे यूजर्स को कुछ फायदा होगा। तो पोस्ट पढ़ने वाले यूजर्स पोस्ट लिखने वाले के बारे में जरूर जानना चाहेंगे। ऐसा तभी होगा जब आप एक बेहतर जानकारी पोस्ट करेंगे।


Guest Post के लिए किन बातों का ध्यान रखें?

जब भी आप guest post के लिए आर्टिकल भेजें। तो आप अलग से अपने बारे में जानकारी जरूर लिखें। आप कौन हैं? क्या करते हैं? कैसे दिखते हैं? आदि के बारे में जानकारी जरूर भेजें। ताकि जब आपकी पोस्ट किसी दूसरे ब्लॉग पर पब्लिश होगी। तो उस ब्लॉग को पढ़ने वाले यूजर्स आपके बारे में जान सकें। आप अपने सोशल मीडिया के लिंक्स भी भेज सकते हैं। ताकि ज्यादा से ज्यादा यूजर्स आपके साथ जुड़ सकें। और आपको फॉलो कर सकें।

जब भी आप guest post करें। कोशिश करें कि आपको अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक कंटेंट के शुरूआत में मिले। कंटेंट के शुरूआत में मिलने वाली लिंक की वैल्यू कंटेंट के अंत में मिलने वाली लिंक की तुलना में ज्यादा होती है।

Guest Post करने के बाद आपको जिस भी पोस्ट के लिए बैकलिंक मिली हो। उस पोस्ट को अपने ब्लॉग के दूसरे पोस्ट्स के साथ लिंक करें। ताकि लिंक की क्वालिटी एक पोस्ट से दूसरे पोस्ट में transfer हो सकें। और आपके ज्यादा से ज्यादा पोस्ट गूगल में अच्छी तरह रैंक कर सकें।


Guest Post करने के क्या फायदे हैं? (What are the benefits of Guest Blogging in SEO Hindi )

Guest Post या Guest Blogging करने के बहुत से फायदे होते हैं। लेकिन जो मुख्य है। वो नीचे बताएं गए हैं।

Do follow Backlink

Guest Post करने से आपको अपने ब्लॉग के लिए Do follow Backlink मिलती है। जो किसी भी ब्लॉग और वेबसाइट की अच्छी रैंकिंग के लिए जरूरी होता है। इससे आपके ब्लॉग की अथॉरिटी बढ़ती है। एक high DA, PA वाली वेबसाइट की बैकलिंक बहुत ज्यादा valuable होती है। अगर आपको ऐसी किसी वेबसाइट से बैकलिंक मिलती है। तो आपके ब्लॉग की भी DA, PA increase होगी।


Traffic

बैकलिंक traffic का एक अच्छा source होती है। जब आप guest post करते हैं। तो आपको बैकलिंक मिलती है। जो हमारे ब्लॉग और वेबसाइट की traffic को बढ़ाने का काम करती है। इससे ब्लॉग जल्दी रैंक करती है।


Relationship

जब आप guest post सबमिट करते हैं। और आपकी पोस्ट यूजर्स द्वारा बहुत ज्यादा पसंद की जाती है। तो इससे ज्यादा से ज्यादा यूजर्स आपके बारे में जानने लगते हैं। वो आपके संपर्क में रहने की कोशिश करते हैं। ताकि उन्हें और भी ज्यादा अच्छे और useful जानकारियां आपके द्वारा मिलते रहें। साथ ही इससे पोस्ट पब्लिश करने वाली साइट से भी अच्छी relationship built होती है। और आपको और भी ज्यादा guest post करने के लिए कहा जाता है।


निष्कर्ष
जब हम अपने टॉपिक से मिलते जुलते किसी दूसरे ब्लॉग या वेबसाइट पर अपनी कोई पोस्ट पब्लिश करते हैं। तो वह पोस्ट Guest Post या Guest Blogging कहलाती है।

Guest Post करने से ज्यादा से ज्यादा यूजर्स हमारे बारे में जानने लगते हैं। हमारे ब्लॉग के बारे में जानने लगते हैं। इसके द्वारा हमें हमारे ब्लॉग के लिए बैकलिंक और traffic मिलती है। दूसरे ब्लॉग्स के साथ relationship अच्छी होती है और इससे brand awareness भी हो जाती है।

Guest Post करने के लिए आप पोस्ट accept करने वाली वेबसाइट की गाइडलाइंस को पढ़े। उन्होंने जो पोस्ट accept करने की गाइडलाइंस बतायी है। उन्हें फॉलो करके ही अपनी पोस्ट उन ब्लॉग्स को भेजें। ताकि आपके पोस्ट को पब्लिश करने में उन्हें कोई परेशानी न होती हो।

इस आर्टिकल में हमनें Guest Blogging के बारे में जाना Guest Post क्या है? और Guest Post कैसे करें? किन बातों को ध्यान में रखकर हम एक बेहतर पोस्ट लिख सकते हैं? आदि के बारे में हमने इस आर्टिकल में जाना।

हम आशा करते हैं कि आपको हमारी इस पोस्ट से अच्छी जानकारी मिली होगी। साथ ही अगर आपको यह जानकारी फायदेमंद लगी हो। तो इस पोस्ट को आप अपने सोशल मीडिया profiles और अपने दोस्त, रिश्तेदारों को शेयर कर सकते हैं। जो blogging सीख रहे हों।
धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ