Domain Authority और Page Authority क्या है? DA, PA कैसे improve करें

Domain Authority और Page Authority ये दो metrics SEO ( Search Engine Optimization) में नए नहीं हैं। जो भी ब्लॉगर और SEOs अपना एक ब्लॉग या फिर वेबसाइट चलाते हैं। उन्हें Domain Authority ( DA ) और Page Authority ( PA ) के बारे में अच्छे से पता होता है। हालांकि अगर आप ब्लॉगिंग में नए हैं। तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत मददगार साबित हो सकता है।

हम अपनी ब्लॉग और वेबसाइट को गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस ( SERPs ) में रैंक कराने के लिए कई सारे SEO efforts करते हैं। गूगल के करीब 200 रैंकिंग algorithms किसी ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल में रैंक कराने का काम करते हैं। ये algorithm ब्लॉग, वेबसाइट पर किए गए SEO efforts को चेक करते हैं। जिस भी ब्लॉग और वेबसाइट में अच्छी SEO की गई होती है। वह वेबसाइट गूगल के SERPs में टॉप में रैंक करती है।

गूगल के इन 200 algorithms को जान पाना और इन सारे algorithms के हिसाब से अपने ब्लॉग या वेबसाइट को optimized करना किसी के लिए भी मुश्किल काम है।

वो इसलिए क्योंकि इन सभी algorithm के बारे में किसी को भी नहीं पता है। और न ही गूगल अपने सभी रैंकिंग algorithm के बारे में जानकारी शेयर करता है। और यह सही भी है। क्योंकि अगर गूगल के सारे algorithms के बारे में किसी को पता चल जायेगा। तो वह इन एल्गोरिथम के हिसाब से अपने ब्लॉग और वेबसाइट को optimized करके आसानी से गूगल के SERPs में रैंक कर जायेगा।

अगर ऐसा होता है। तो सभी ब्लॉगर्स और SEOs अपने ब्लॉग और वेबसाइट को गूगल के algorithms के हिसाब से optimized करने लगेंगे न की यूजर्स के हिसाब से। 

Domain Authority aur Page Authority kya hai


हालांकि कुछ ऐसे रैंकिंग फैक्टर हैं। जिसे हम अपने ब्लॉग और वेबसाइट के लिए optimized कर सकते हैं। इन्हीं फैक्टर्स में से आज हम Domain Authority और Page Authority के बारे में जानने वाले हैं। Domain Authority और Page Authority क्या है? यह रैंकिंग में किस तरह से effect करती है। DA, PA कैसे improve करें? DA, PA में क्या अंतर है? इसे कैसे चेक करते हैं? आदि के बारे में हम इस आर्टिकल में जानने वाले हैं। 


Domain Authority क्या है? ( What is Domain Authority in SEO Hindi )

Domain Authority SEO सॉफ्टवेयर कंपनी Moz के द्वारा बनाया गया एक metric है जो वेबसाइट के SERPs में रैंक करने की ability के आधार पर एक score देता है। यह स्कोर 0-100 तक का है। जिसमें higher score ब्लॉग, वेबसाइट के better रैंकिंग ability को बताता है।

Domain Authority एक comparative metric की तरह है। जो यह बताता है कि आपके ब्लॉग या वेबसाइट की SERPs में रैंक करने की ability आपके प्रतियोगी वेबसाइट की तुलना में कितनी अच्छी है? 

जैसे अगर आपके वेबसाइट की domain authority का score आपके competitors के वेबसाइट की तुलना में ज्यादा है। तो इसका यह मतलब है कि आपके वेबसाइट की SERPs में रैंक करने की ability आपके competitive वेबसाइट से अच्छी है। आपकी वेबसाइट आपके प्रतियोगी वेबसाइट की तुलना SERPs में जल्दी रैंक कर सकती है।


Domain Authority कैसे calculate किया जाता है?

Moz किसी वेबसाइट के domain authority को अपने 40 तरह के फैक्टर्स पर चेक करके देता है। इन 40 फैक्टर्स में root domains और inbound links आते हैं। जिस भी वेबसाइट की बैकलिंक high-quality की होती है। उन का DA का स्कोर बहुत ज्यादा होता है। जो नयी वेबसाइट होती है। उनका DA का स्कोर सामान्यता 1 होता है।

Moz का DA का स्कोर logarithmic है। कहने का यह मतलब है कि अगर आपके वेबसाइट की DA 20 है। तो इसे 20-30 करने में आपको जितनी मेहनत करनी पड़ेगी। उससे कहीं ज्यादा मेहनत आपको वेबसाइट के DA को 70 से 80 करने में होगी। जैसे जैसे आपके वेबसाइट की DA बढ़ते जायेगी। वैसे वैसे इसे बढ़ाने के efforts समय के साथ साथ और भी ज्यादा मुश्किल होते चली जायेगी।

इसके साथ ही अगर आप अपने वेबसाइट की बैकलिंक loose करते हैं। तो यह स्कोर भी कम होते जायेगा।


एक अच्छी Domain Authority स्कोर क्या है?

जैसा कि हमने आपको बताया की यह comparative metric है। अगर आपके ब्लॉग, वेबसाइट की domain authority आपके competitor के वेबसाइट के DA से ज्यादा है। तो आपका यह स्कोर बहुत अच्छा है।

आपकी domain authority अच्छी है या नहीं? यह पूरी तरह से आपके competitors के domain authority पर निर्भर करती है कि आपके वेबसाइट की रैंकिंग ability उनसे अच्छी है या नहीं। इसलिए आप अपना लक्ष्य high DA पर नहीं बल्कि अपने competitors के DA से अच्छी रखने की होनी चाहिए। तभी आप उनसे आगे निकल सकते हैं। तभी आप वेबसाइट को उनसे बेहतर रैंक करा सकते हैं।


Domain Authority कैसे चेक करें?

अपने ब्लॉग और वेबसाइट की Domain Authority को चेक करने के लिए आप Moz के Link Explorer और websiteseochecker टूल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके साथ आप इन टूल की मदद से Page Authority और Spam Score को भी चेक कर सकते हैं।


Domain Authority कैसे improve करें?

Domain Authority एक comparative metric है। जिसे improve करनी है या नहीं। यह इस बात पर निर्भर करती है कि आपके competitive वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी आपसे बेहतर है या नहीं। हालांकि अगर आपके वेबसाइट का DA आपके competitive वेबसाइट्स से कम है। तब आप नीचे इन पॉइंट्स को फॉलो कर सकते हैं।

Link Profile को audit करें

आपके वेबसाइट के सारे Backlinks को Link Profile कहते हैं। आप समय समय पर अपने बैकलिंक चेक करें। अपने वेबसाइट के खराब और bad backlinks को ठीक करें। जो आपके ब्लॉग, वेबसाइट पर point करती हो।

अपनी वेबसाइट के लिए ज्यादा से ज्यादा बैकलिंक बनाने की कोशिश करें। पर ध्यान रहे सभी बैकलिंक की quality अच्छी होनी चाहिए। कहने का मतलब है कि आप उन वेबसाइट्स से बैकलिंक लेने की कोशिश करें। जो आपके ब्लॉग या वेबसाइट के relevant हो। जो authoritative वेबसाइट हो। एक ही वेबसाइट से ज्यादा बैकलिंक लेने की बजाय आप अलग अलग sources और वेबसाइट्स से बैकलिंक लेने की कोशिश करें। जो आपके relevant हो।


Quality Content लिखें

आपके वेबसाइट पर जितनी अच्छी engagement होगी। उतनी अच्छी आपके वेबसाइट की DA स्कोर होगी। ऐसा तभी होगा जब आप अपनी वेबसाइट में high-Quality के Content पोस्ट करेंगे। ऐसा कंटेंट जो यूजर्स को engage करती हो। जिसे ज्यादा से ज्यादा यूजर्स पसंद करते हों।

गूगल के algorithm कंटेंट को उसके organic traffic, direct traffic, CTR, Bounce Rate आदि पर भी रैंक करती है। अगर आप अपने वेबसाइट के engagement को वेबसाइट के DA में बदलना चाहते हैं। तब आपको अपने यूजर्स के साथ loyal रहना होगा। अपनी वेबसाइट के trust level को increase करनी होगी। Quality Content क्वॉलिटी बैकलिंक लेने में मदद करती है।


Quality Backlinks बनाएं

अपनी वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा promote करें। अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल में कंटेंट शेयर करें। आप हाई DA और PA वेबसाइट्स से बैकलिंक लेने की कोशिश करें। उन्हें guest post accept करने के लिए आग्रह करें। इसके लिए आपको अपने content को relevant बनाने की जरूरत है। जो हाई DA, PA वाली वेबसाइट्स के कंटेंट से मैच करती हो। 

इसके साथ ही अपनी वेबसाइट के loading speed को फास्ट करें। Fast loading एक authoritative ब्लॉग, वेबसाइट की पहचान होती है। गूगल के algorithm में पेज का लोड टाइम एक रैंकिंग फैक्टर है। अपने वेबसाइट के theme को simple रखें। Images को compress करके यूज करें। यह पेज के load को कम करती है।


Page Authority क्या है? ( What is Page Authority in Hindi )

Page Authority Moz के द्वारा बनाया गया एक मीट्रिक है। जो किसी ब्लॉग, वेबसाइट के individual pages की SERPs में रैंक करने की ability को बताता है। यह 1 से 100 के स्कोर में होता है। जिसमें higher score किसी page के higher ranking ability को बताता है।


Page Authority कैसे calculate किया जाता है?

Page Authority से वेबसाइट के single pages की SERPs में रैंक करने की ability का पता चलता है। यह भी Moz के 40 अलग अलग फैक्टर्स पर चेक करके दिया जाता है। जिसमें Domain Authority भी आती है।

Page Authority भी domain authority की ही तरह logarithmic है। इसमें भी आपको अपने वेबसाइट के specific pages को 20-30 करने में जितनी आसानी होगी। उतनी ही ज्यादा मुश्किल इसे 70-80 करने में होगी। इसके साथ ही जब जब Moz का algorithm update होता है। वैसे वैसे इसमें fluctuation देखने को मिलता है।


एक अच्छी Page Authority स्कोर क्या है?

Page Authority भी Domain Authority की तरह ही calculate किया जाता है। यह भी एक comparative metric है। यह स्कोर कितनी अच्छी है। यह भी इस बात पर निर्भर करती है की आपके competitors के वेबसाइट की page authority आपसे अच्छी है या नहीं। आपके pages की रैंक करने की ability उनसे कितनी अच्छी है?

अगर आपके वेबसाइट की page authority आपके सारे competitors के page authority से अच्छी है। तो इसका यह मतलब है कि आपके वेबसाइट के individual pages की SERPs में रैंक करने की ability ज्यादा है।


Domain Authority और Page Authority में क्या अंतर है? ( Difference between Domain Authority and Page Authority in SEO Hindi )

Domain Authority में पूरे domain या subdomain की SERPs में रैंक करने की ability को measure किया जाता है। वहीं Page Authority में ब्लॉग और वेबसाइट के individual pages की SERPs में रैंक करने की ability को measure किया जाता है। 

Page Authority और Domain Authority का स्कोर एक दूसरे पर निर्भर करती है। अगर किसी वेबसाइट की DA अच्छी है। तो उसके लिंक की जो क्वालिटी होगी। वह उस वेबसाइट के individual pages में transfer होगी। ऐसा ही page authority के case में भी होता है। DA और PA हर वेबसाइट की अलग अलग होती है। इसमें PA का स्कोर DA की तुलना में अधिक होता है।


Page Authority कैसे improve करें?

अपने वेबसाइट के पेजेस में high-Quality के content लिखने से page authority का स्कोर increase होता है। नीचे कुछ पॉइंट्स बताएं गए हैं। जिसे फॉलो करके आप अपने ब्लॉग और वेबसाइट के PA को बढ़ा सकते हैं।

नए और Fresh Content लिखें

Page Authority वेबसाइट के individual pages के meaningful और fresh content पर measure की जाती है। आप अपने ब्लॉग और वेबसाइट में अपने टॉपिक के relevant कंटेंट लिखें। जो आपके यूजर्स के relevant हो। अपने कंटेंट को समय समय पर अपडेट करते रहे साल में कम से कम एक बार अपने कंटेंट को जरूर अपडेट करें।

अपने content को आसान शब्दों में लिखें। जो आसानी से समझ में आती हो। अपने लिखे हुए कंटेंट से ज्यादा से ज्यादा यूजर्स को अपनी ओर आकर्षित करने की कोशिश करें। इसके लिए आपको यूजर्स के हिसाब से अपने कंटेंट को लिखनी और उसे optimized करनी होगी। इससे यूजर्स का reading experience बेहतर होता है।


Internal Linking करें

अपने वेबसाइट के एक पेज को वेबसाइट के दूसरे पेजेस के साथ लिंक करें। Internal Linking ब्लॉग, वेबसाइट के Bounce Rate को कम करने का काम करती है। अपने रैंक कर रहे पेजेस को वेबसाइट के दूसरे पेजेस के साथ लिंक करें। जिससे ज्यादा से ज्यादा पेजेस रैंक कर सकें।

Internal linking आप सिर्फ रैंकिंग के उद्देश्य से नहीं बल्कि अपने यूजर्स को उनके relevant जानकारियां मुहैया कराने के उद्देश्य से करें। किसी हाई DA, PA वाली वेबसाइट्स के पेजेस से बैकलिंक लेने की कोशिश करें।


On-Site SEO करें

अपनी वेबसाइट के domain authority और page authority को improve करने के लिए बेहतर on-site SEO techniques को फॉलो करें। अपने कंटेंट को यूजर्स और सर्च इंजन दोनों के लिए optimized करें। On-Site SEO या on-page SEO आपके वेबसाइट के DA और PA दोनों को बढ़ाने में बहुत मददगार साबित होता है।

इसमें आप अपने कंटेंट के title, meta description, content, alt text, URLs को अच्छे से optimized करें। Images, videos, infographics, headings, subheadings, keywords आदि का यूज करें। छोटे छोटे paragraphs में आर्टिकल लिखने की कोशिश करें।


निष्कर्ष

Domain authority का स्कोर domain, subdomain के SERPs में रैंक करने की ability को चेक करके measure किया जाता है। वहीं Page Authority में वेबसाइट के individual pages की SERPs में रैंक करने की ability को चेक करके measure किया जाता है। दोनों का स्कोर 1-100 के बीच में measure किया जाता है। जिसमें higher score higher ranking को दर्शाता है। दोनों ही metric Moz का बनाया हुआ है।

DA और PA दोनों ही metric comparative है। अगर आपके वेबसाइट की DA, PA आपके competitors के वेबसाइट से अच्छी है। तो आपकी वेबसाइट SERPs में आपके competitors से अच्छी रैंक कर पायेगी। वहीं अगर यह स्कोर कम है। तब आपको अपने वेबसाइट के DA, PA के स्कोर को improve करने की जरूरत है।

ये दोनों ही metrics Moz का बनाया हुआ है। जो Moz के अलग अलग factors और algorithms पर चेक करके measure किया जाता है। Moz के algorithm के अपडेट होने पर यह स्कोर fluctuate भी करती है।

इसके साथ ही गूगल DA, PA जैसे metric को अपने algorithm में यूज नहीं करता है। यह पूरी तरह से Moz के द्वारा बनाया गया एक comparative metric है।

इस आर्टिकल में हमनें Domain Authority और Page Authority क्या है? DA, PA कैसे improve करें? आदि के बारे में जाना। आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी? हमें कमेंट करके जरूर बताएं। साथ ही अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो। तो इसे शेयर जरूर करें।

धन्यवाद


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ