Blogger क्या है? ब्लॉगर से कैसे पैसे कमाएं

आज इंटरनेट में ऑनलाइन पैसे कमाने के बहुत से तरीके हैं। इसमें YouTube, Affiliate Marketing, Online tutoring, content writing, data entry, digital marketing, Blogging आदि। ऐसे बहुत से तरीके हैं। जिनसे कि online काम करके पैसे कमाएं जा सकते हैं।

इनमें से आज हम जिसके बारे में बात करने वाले हैं वह है Blogging। हम कैसे Blogger में अपना एक ब्लॉग बना कर ब्लॉगिंग से अच्छा पैसा कमा सकते हैं? लेकिन इससे पहले जान लेते हैं कि आखिर ब्लॉग क्या होता है? और blogging क्या है? ब्लॉगिंग कौन कर सकता है? आदि।

Blog kya hai


ब्लॉग क्या होता है? ( What is a Blog in Hindi )

ब्लॉग एक ऑनलाइन Journal या informational website है। जिसमें content regular अपडेट होते रहते हैं। इसमें नयी पोस्ट की गयी content सबसे पहले दिखाई देती है। यह एक online diary के जैसा होता है।

ब्लॉग में आप अपने daily life experiences को लिख कर शेयर कर सकते हैं। आप चाहें तो इसमें किसी विशेष टॉपिक के बारे में जानकारियां लिखकर भी इंटरनेट में शेयर कर सकते हैं। ब्लॉग लाखों लोगों द्वारा पढ़ा जाता है।

ब्लॉग एक वेबसाइट ही होती है। लेकिन वेबसाइट के कंटेंट की तुलना में यह छोटी होती है। जिसमें हर दिन कुछ न कुछ नया कंटेंट पोस्ट होते रहती है। यह किसी author के द्वारा लिखा जाता है। ब्लॉग personal और professional दोनों कामों के लिए उपयोग में लाया जा सकता है।


ब्लॉगिंग क्या है? ( What is Blogging in Hindi )

ब्लॉग बनाकर अपने skills और knowledge को लिख कर लाखों लोगों तक पहुंचाना। लाखों लोगों से interact करना blogging कहलाता है। इसमें content writing, posting, linking, sharing, commenting आदि चीजें आती है। ब्लॉगिंग करके आप अपने knowledge, skills को targetted audience तक पहुंचा सकते हैं।

Blogging करके आप अच्छा पैसा कमा सकते हैं। बस इसके लिए आपके पास कोई ऐसी skill या जानकारी होनी चाहिए। जिसे आप अपने ब्लॉग में लिखकर लोगों को शेयर कर सकते हों। जिसे लोग पढ़ना पसंद करते हों।

Blogger kya hai


Blogger क्या है? ( What is Blogger in Hindi )

Blogger एक अमेरिकन blog publishing service है। जिसमें एक साथ कई तरह के ब्लॉग्स बनाये जा सकते हैं। यह Pyra Labs द्वारा बनाया गया था। जिसे गूगल ने 2003 में खरीद लिया। अब यह गूगल का service है। इसमें आप फ्री hosted server और subdomain के साथ फ्री में अपना एक ब्लॉग बना सकते हैं।

Blogger में बनाये जाने वाले ब्लॉग्स subdomain के साथ access किए जाते हैं। जैसे अगर आप blogger में अपना एक ब्लॉग बनाते हैं। तो आपका डोमेन address yourdomain.blogspot.com के रूप में दिखाई देगा।
इसमें blogspot.com गूगल द्वारा फ्री में दिया जाने वाला एक subdomain है। यह गूगल द्वारा hosted होता है।

Blogger में आप चाहें तो इस subdomain को अपने custom domain ( yourdomain.com/net/in ) के साथ भी बदल सकते हैं। अपने डोमेन address को किसी दूसरे डोमेन address में बदलने की सुविधा blogger में मौजूद है। इसके लिए आपको अपने custom domain को DNS ( Domain Name System ) की मदद से गूगल के server के साथ कनेक्ट करना होता है।

Blogger की मदद से आप खुद की अपनी एक ब्लॉग बना सकते हैं। यह personal और professional दोनों तरह के ब्लॉग्स हो सकते हैं। Blogger में बहुत सारे features मिल जाते हैं। जिसकी मदद से आप अपने ब्लॉग को यूजर्स के लिए बेहतर डिजाइन कर सकते हैं। Widget, theme, language, font, colour, layout customization की सहायता से आप अपने ब्लॉग को बेहतर बना सकते हैं।

इसके साथ ही अगर आप अपनी खुद की कोई theme अपने ब्लॉग में लगाना चाहते हैं। तो blogger के theme को edit करके खुद की theme को लगाने के साथ उसके layout को भी अपने हिसाब से डिजाइन कर सकते हैं।

Blogger में आप अपने कंटेंट के text को अपने हिसाब के size और colour में change कर सकते हैं। इसके साथ ही आप labels, links, profile, social media icons, subscriptions आदि बहुत सी चीजों को आप खुद से ही add और remove कर सकते हैं।


क्या Blogger को मोबाइल से एक्सेस किया जा सकता है?

हां, बिल्कुल। Blogger को आप अपने smartphone से एक्सेस कर सकते हैं। आप अपने smartphone से ही अपने ब्लॉग के बहुत से काम कर सकते हैं। जैसे फोटो चूज करके अपलोड/एडिट करना, content writing, layout design, text formatting, posting, linking आदि को आप अपने smartphone से ही कर सकते हैं। इसे आप browser और app दोनों में एक्सेस कर सकते हैं।

लेकिन ब्लॉग के theme को अपने smartphone से एडिट करने में आपको थोड़ी परेशानी हो सकती है। ब्लॉग के theme में Google Analytics code, meta tag, Google Search Console को अपने ब्लॉग, वेबसाइट से connect करने में आपको परेशानी हो सकती है। इन सारे codes या किसी दूसरे तरह के code को ब्लॉग के theme में add करने के लिए कंप्यूटर की जरूरत होगी।


Limitations of Blogger

वैसे तो blogger में बहुत सारे features हैं। जिसकी मदद से आप अपने ब्लॉग को यूजर्स और सर्च इंजन के लिए optimized कर सकते हैं। लेकिन फ्री होने के चलते इसमें कुछ limitations भी हैं। जो निम्न हैं-
  1. No. Of Blogs- unlimited
  2. No. Of Comments- unlimited
  3. No. Of Post- 50 per day
  4. No. Of Pages- no limit
  5. Size Of Picture- अगर आप मोबाइल से इमेज अपलोड करते हैं तो 250kb per picture तक सीमित है
  6. Size Of Pages- individual Pages 1 MB तक
  7. Storage Limit Of Picture- 1 GB तक
  8. Blog description- 500 characters maximum
  9. Favicon- कोई भी square image जो 100 kb से कम हो
  10. Blog members- 100 members per blog

इसके अलावा अगर आप गूगल के किसी terms of service को violate करते हैं। तो गूगल आपको बिना notice के आपके ब्लॉग को बंद कर सकता है।


ब्लॉगर कौन होता है? ( Who is a blogger in Hindi )

ब्लॉग लिखने वाले को ब्लॉगर कहते हैं। ये वो इंसान होता है। जो अपने skills और knowledge को ब्लॉग की मदद से लोगों को शेयर करता है। यह एक team भी हो सकती है। जो किसी ब्लॉग को चलाने का काम करती हो।

ब्लॉगर कोई भी इंसान बन सकता है। ब्लॉगर बनने के लिए किसी खास तरह के knowledge की आवश्यकता नहीं होती है। ब्लॉग को कोई भी इंसान शुरू कर सकता है।

ब्लॉगर बनने के लिए आपको किसी ऐसे टॉपिक को चुन कर आर्टिकल लिखना होता है। जिसके बारे में आपको अच्छी जानकारी हो। जिसके बारे में आप लगातार अच्छा और बेहतर लिख सकते हों। जिसके बारे में आपको दूसरों से अच्छी जानकारी हो। जैसे food, finance, movie review, entertainment, politics, health, digital marketing, education, sports आदि ऐसे बहुत से टॉपिक्स हैं। जिनपर एक ब्लॉग शुरू किया जा सकता है।


ब्लॉगर से कैसे पैसे कमाएं? ( How to earn money from blogger in Hindi )

Blogger में एक ब्लॉग बनाना जितना आसान है। उतना ही मुश्किल उस ब्लॉग से पैसे कमाना है। फिर चाहें आप अपना ब्लॉग किसी दूसरे ब्लॉगिंग platform में ही क्यों न शुरू करते हों। इसमें समय के साथ लगन, धैर्य और कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। तभी इससे पैसे कमाएं जा सकते हैं। अच्छी और Quality Content लिखनी पड़ती है।

कुछ साल पहले तक किसी भी ब्लॉगिंग platform में अपना एक ब्लॉग बनाकर उसमें Adsence के द्वारा अच्छे पैसे कमाएं जा सकते थे। लेकिन अब ऐसा नहीं है। पहले कंपीटिशन ज्यादा नहीं था। जितना की आज हो गया है।

हालांकि सही दिशा में प्रेक्टिस करने से आप अपने ब्लॉग से अच्छा पैसा कमा सकते हैं। नीचे कुछ पॉइंट्स बताएं गए हैं। जिन्हें फॉलो करके आप ब्लॉगर से अच्छे पैसे कमा सकते हैं, जो आपके ब्लॉगिंग कैरियर को आसान बना सकती है।

Topic

एक ब्लॉग शुरू करने के लिए जो सबसे पहले आता है वह है सही टॉपिक का चुनाव करना। बहुत से नए ब्लॉगर्स इसी में गलती करते हैं। वे दूसरे के टॉपिक पर आर्टिकल लिखना शुरू कर देते हैं। जिसके बारे में उन्हें अच्छी तरह से पता नहीं होता है। और न ही उनका interest उस टॉपिक पर लिखने का होता है। टॉपिक चुनने में गलती न करें।

यह बात हमेशा याद रखें कि अपने जो टॉपिक चुना है। उस पर आपको अच्छी जानकारी होनी चाहिए। आपको अपने चुने गए टॉपिक पर महीनों तक आर्टिकल लिखना होता है। अगर आप गलत टॉपिक का चुनाव कर लेते हैं। तो कुछ पोस्ट, आर्टिकल लिखने के बाद आपको यह समझ में नहीं आयेगा कि अगला आर्टिकल किस बारे में लिखा जाए।

इसलिए अपने टॉपिक चुनने में जल्दीबाजी न करें। अपने टॉपिक पर लगातार रिसर्च करनी पड़ती है। अपने लिखे content, posts को समय के साथ अपडेट करना पड़ता है। जो सही टॉपिक चुनने पर ही किया जा सकता है। जब आपको अपने टॉपिक के बारे में अच्छी जानकारी होगी। तभी आप अच्छी जानकारी ब्लॉग में पोस्ट कर पाएंगे।


Keyword Research

आर्टिकल/पोस्ट के लिए अपने टॉपिक के keywords को चुनकर उसमें content लिखना होता है। यूजर जब गूगल में कोई सवाल, क्वेरी टाइप करता है। तो टाइप किया जाने वाला word कीवर्ड कहलाता है। ये एक शब्द ( word ) या एक पूरी की पूरी वाक्य ( sentence ) भी हो सकती है।

जैसे "blogger Kaise bane" यह एक short tail keyword है। जिसे गूगल में यूजर्स द्वारा सर्च किया जाता है। वहीं "blog aur website dono me kya antar hai" यह एक long-tail keyword है। जोकि एक वाक्य के रूप में हैं। जो यूजर्स द्वारा गूगल से पूछे जाते हैं।

अगर आपने एक नया ब्लॉग बनाया है। तो आप long-tail keywords में अपना आर्टिकल लिखें। नए ब्लॉग को long-tail keyword में रैंक करना आसान होता है। आप keyword research करते समय search volume और SEO difficulty जरूर चेक करें। उन कीवर्ड पर आर्टिकल लिखें। जिसमें competition कम हों।


Content

ऐसे बहुत कम ही ब्लॉगर्स हैं। जो content पर बहुत ही ज्यादा फोकस करते हैं। रैंक करने के लिए यह बहुत जरूरी है कि आप अपने ब्लॉग में useful content पोस्ट करें। ऐसा content लिखें जो यूजर्स द्वारा की गई क्वेरी को पूरी तरह से satisfied/fulfil करती हो। जो यूजर्स के क्वेरी से मेल खाती हो। जिसे यूजर पढ़ना पसंद करते हों।

आप जिस भी टॉपिक पर अपना content लिखें। खुद से ही लिखें। कभी भी किसी दूसरे वेबसाइट के content को अपने ब्लॉग में पोस्ट न करें। इससे आपकी ब्लॉग रैंक नहीं कर पाएगी। और न ही traffic ( visitors ) आयेगी।

अच्छी और फायदेमंद जानकारियां ब्लॉग में पब्लिश करें। जिसे आप अच्छा और दूसरों से बेहतर लिख सकते हों। हो सकता है कि शुरूआत में आप अपने ब्लॉग के लिए अच्छा content न लिख सकें। लेकिन लगातार कोशिश करते रहने से आप बेहतर content लिखना सीख सकते हैं।


Format

अपने लिखे content को सही format दें। Keyword को bold, italic, underline करें। इमेजेस का यूज करें। छोटे छोटे paragraphs में कंटेंट लिखने की कोशिश करें।Headings, subheadings का इस्तेमाल करें। अपने कंटेंट को ऐसा डिजाइन करें। जो यूजर्स के साथ साथ सर्च इंजन के crawlers को भी अच्छे से समझ में आती हो।

जो जरूरी paragraphs हों। उसे highlight करें। जरूरी चीजों को bullet points के साथ लिखें। Images के लिए आप Pixabay और Pexels जैसी वेबसाइट के इमेजेस को अपने ब्लॉग में फ्री में यूज कर सकते हैं। आप इमेजेस को compress करके यूज करें। ये वेबसाइट के load time को कम करने का काम करती है। छोटे छोटे paragraphs से यूजर्स को पढ़ने में आसानी होती है।

SEO


SEO ( Search Engine Optimization )

अपने लिखे content को सर्च इंजन में बेहतर रैंक कराने के लिए SEO सीखें। SEO में content को सर्च इंजन और यूजर्स के लिए optimized किया जाता है। ताकि हमारे कंटेंट अच्छे से पढ़े और समझे जा सकें। यह अच्छी traffic के लिए भी जरूरी है कि आप ब्लॉग में SEO करें।

SEO और Digital Marketing ये दो ऐसे फील्ड हैं। जिसमें हर दिन कुछ न कुछ नया अपडेट होते रहता है। SEO में आए दिन कुछ न कुछ change होते रहता है। जिससे हमारे ब्लॉग, वेबसाइट की रैंकिंग पर बहुत ज्यादा असर दिखने को मिलता है। वेबसाइट की रैंकिंग सर्च इंजन में अचानक से या तो बढ़ जाती है या फिर घट जाती है।

SEO एक बहुत ही लंबी प्रॉसेस होती है। जिसे अपने ब्लॉग, वेबसाइट में apply करने के बाद तुरंत रिजल्ट्स देखने को नहीं मिलती है। तुरंत ही हमारी वेबसाइट गूगल में रैंक नहीं करती है। यह एक time taking process है। एक ब्लॉग को गूगल में रैंक होने में समय लगता है। जो निश्चित नहीं है।


Patience

एक ब्लॉग बनाकर उसमें quality content लिखने और अच्छी SEO techniques को apply करने के बाद भी ब्लॉग तुरंत ही गूगल में रैंक नहीं करती है। एक नए ब्लॉग को गूगल में रैंक कराने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। धैर्य बनाएं रखने की जरूरत होती है।

नए ब्लॉगर्स तो धैर्य न होने के कारण ही ब्लॉगिंग में सफल नहीं हो पाते हैं। और ब्लॉगिंग छोड़ देते हैं। गूगल किसी भी content को सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस ( SERPs ) में अच्छी रैंकिंग देने के लिए उसे बहुत से फैक्टर्स पर चेक करती है। गूगल के algorithm ब्लॉग और ब्लॉग के कंटेंट को चेक करने का काम करती है और रैंकिंग देती है।

गूगल के करीब 200 रैंकिंग algorithms हैं। जो किसी भी ब्लॉग और वेबसाइट के कंटेंट को चेक करने के बाद उसे गूगल के SERPs में रैंक करती है। जो भी content गूगल के इन रैंकिंग algorithms में बेहतर perform कर पाती है। वही content गूगल में ज्यादा रैंक कर पाती है।


Backlinks

अगर आप blogging कर रहें हैं। तो आपको बैकलिंक के बारे में जरूर सुनने को मिलता होगा। जब हमारे वेबसाइट की link किसी दूसरे वेबसाइट में होती है। तो उस लिंक को backlink कहते हैं। यह किसी भी वेबसाइट की रैंकिंग के लिए अच्छी मानी जाती है। अगर आप ब्लॉगिंग में नए हैं। तो आपको बैकलिंक बनाने के लिए में कहा जाता होगा।

कहा जाता है कि जिस भी वेबसाइट के Backlinks की संख्या ज्यादा होती है। वह वेबसाइट गूगल में जल्दी रैंक करती है। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हम सिर्फ अपने ब्लॉग, वेबसाइट को रैंक कराने के लिए किसी भी वेबसाइट से ज्यादा से ज्यादा संख्या में बैकलिंक बना लें।

अगर आप अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक बनाना चाहते हैं। तो बैकलिंक की quantity से ज्यादा quality पर ध्यान दें। उन वेबसाइट्स से बैकलिंक लेने की कोशिश करें। जो आपके ब्लॉग के relevant हो। जिसकी अपनी कोई वैल्यू, कोई अथॉरिटी हो। बैकलिंक बनाने में जल्दीबाजी न करें।


Monetise

जब आपके ब्लॉग पर अच्छी traffic ( visitors ) आने लगें। तब आप अपने ब्लॉग को monetise करें। हालांकि monetise करके पैसे कमाने के लिए आपको कुछ समय तक के लिए ज्यादा इंतजार करना पड़ सकता है। जब तक आपके ब्लॉग पर अच्छी traffic नहीं आ जाती। तब तक आप निरंतर अपने ब्लॉग पर मेहनत करना जारी रखें।

अपने ब्लॉग को monetise करने के लिए भी धैर्य बनाएं रखने की जरूरत होती है। तभी आप blogger से अच्छे पैसे कमा सकते हैं। आप blogging में सफल होंगे या नहीं यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस तरह का कंटेंट अपने ब्लॉग, वेबसाइट पर पब्लिश करते हैं। कितनी लगन और धैर्य के साथ आप blogging को करते हैं?

आप अपने ब्लॉग को Google AdSense से approval लेकर अपने वेबसाइट पर ads दिखा सकते हैं। Google आपको यूजर्स द्वारा ads क्लिक होने के पैसे देता है। जब तक आपके वेबसाइट पर अच्छी ट्रैफिक नहीं आ जाती। तब तक आप अपने ब्लॉग से अच्छा पैसा नहीं कमा सकते हैं। इसके लिए भी आपको धैर्य बनाएं रखने की जरूरत होती है। तभी आप blogging में बेहतर कर सकते हैं।


निष्कर्ष
Blogger एक फ्री blogging platform है। जिसमें आप फ्री में एक subdomain और फ्री लाइफ टाइम hosting के साथ अपने ब्लॉग की शुरुआत कर सकते हैं। आप अपने Blogging कैरियर की शुरुआत कर सकते हैं। Blogging में सफल होने के लिए आपको मेहनत करनी पड़ती है। यह कोई आसान काम नहीं है इसमें धैर्य बनाये रखनी पड़ती है।

इस पोस्ट में हमने Blogger क्या है? ब्लॉगर से कैसे पैसे कमाएं? के बारे में जानकारी हासिल की। साथ ही हमने जाना कि इसमें सफल होने के लिए हमें किन किन चीजों की आवश्यकता होती है। ब्लॉगर कौन होता है? आदि के बारे में हमने इस पोस्ट में जानकारी प्राप्त की।

आपको हमारी यह पोस्ट useful लगी या नहीं? हमें जरूर बताएं। साथ ही अगर अभी भी आपके मन में blogging को लेकर कोई सवाल है। तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं। आपका हर कमेंट हमारे लिए बहुत महत्व रखता है।
धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ