Alt Text क्या है? और image optimization कैसे करें

हम ब्लॉग और वेबसाइट के कंटेंट को सर्च इंजन में अच्छी रैंकिंग के लिए SEO करते हैं। ताकि हमारे content सर्च इंजन में बेहतर तरीके से perform कर सकें। सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस में अच्छी रैंकिंग हासिल कर सकें।

इसके लिए हम On Page SEO करते हैं। अपने कंटेंट को सर्च इंजन और यूजर्स को ध्यान में रखकर हम SEO करते हैं। यूजर्स और सर्च इंजन के लिए अपने content को optimized करते हैं। इसके लिए हम title tag, Meta Description, Headings, Subheadings, quality content आदि को बेहतर तरीके से optimized करते हैं।

अपने आर्टिकल के कंटेंट का तो हम On Page SEO कर लेते हैं। लेकिन अपने आर्टिकल में यूज होने वाले इमेजेस का बहुत कम ही SEO करते हैं। Image optimization भी On Page SEO में आता है। यह Search Engine Optimization ( SEO ) के लिए बहुत जरूरी होता है।

Alt Text kya hai


इस आर्टिकल में हम image optimization के बारे में जानने वाले हैं। आखिर Alt Text क्या है? यह image optimization के लिए कितना जरूरी है? और image optimization कैसे करें? Alt Text क्यों जरूरी होता है? आदि के बारे में हम इस पोस्ट में जानने वाले हैं। चलिए जानते हैं सबसे पहले आखिर Alt Text क्या होता है?


Alt Text क्या है? ( What is Alt Text in SEO Hindi )

Alt Text जिसे alt attributes भी कहा जाता है। यह वो text होता है जिसकी मदद से सर्च इंजन के crawlers को यह पता चलता है कि image में क्या है? और image किसके बारे में है? गूगल इमेजेस को पहचान सकें। इसके लिए हम अपनी images में alt text का यूज करते हैं।

गूगल images को पढ़ नहीं पाता है। उसे images को समझने में परेशानी होती है। इमेज में alt text देने से गूगल के crawlers को हमारे ब्लॉग और वेबसाइट के images को समझने में आसानी होती है। इसकी मदद से गूगल के crawlers इमेजेस को अच्छी तरह से crawl और index कर पाते हैं। Alt Text इमेजेस को defined करती है।


Alt Text देना क्यों जरूरी है?

अपने images में alt text देना SEO के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। यह ब्लॉग के On Page SEO के score को increase करने का काम करती है। नीचे कुछ पॉइंट्स बताएं गए हैं। जिसकी मदद से हम यह जानेंगे कि आखिर इमेज में alt text देना क्यों जरूरी होता है? और image optimization के लिए यह क्यों जरूरी है?

  1. गूगल के artificial bots जिन्हें crawlers भी कहते हैं। वो हमारे ब्लॉग और वेबसाइट के कंटेंट को crawl और गूगल के database में स्टोर करने का काम करती है। इन bots को इमेजेस और logos को समझने में परेशानी होती है। इसके लिए हम alt text और structured data की मदद से उनकी इस परेशानी को दूर करते हैं।
  2. जब भी कभी low internet connection या किसी दूसरे technical issue के कारण हमारे इमेजेस हमारे ब्लॉग और वेबसाइट में load नहीं हो पाती है। तो ये alt text उस इमेज को represent करने का काम करती है। और यूजर्स को एक text के रूप में यह पता चलता है कि load न हो पाने वाली इमेज किस बारे में है? 
  3. Alt Text ब्लॉग और वेबसाइट के traffic के लिहाज से भी बहुत ज्यादा जरूरी होता है। क्योंकि गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस ( SERPs ) में आर्टिकल के साथ साथ इमेजेस भी रैंक करती है। जिसे हम गूगल के SERPs के images tab में किसी keyword को सर्च करके देख सकते हैं। इमेजेस से भी वेबसाइट में ट्रैफिक आती है।
  4. इसके साथ ही अगर आप अपने ब्लॉग या फिर वेबसाइट के इमेजेस में alt text देते हैं। और आपके वेबसाइट में अच्छी traffic आती है। तो आप अपने इमेजेस के परफॉर्मेंस को चेक करने के लिए आप Google Search Console के performance tab में जाकर इमेजेस को filter करके, इमेजेस के clicks और impressions देख सकते हैं।
  5. Alt Text इमेजेस के description की तरह होती है। जिसे गूगल के crawlers और यूजर्स के लिए लिखा जाता है। ताकि इमेजेस अपने आप को defined कर सकें।


Alt Text कैसे लिखें? ( How to write alt text )

अपने ब्लॉग और वेबसाइट के इमेजेस के लिए alt text देना बहुत आसान है। Alt Text में आप अपने इमेज का नाम लिखें। जिसके बारे में इमेज हो। जिसके बारे में आपने अपने ब्लॉग और वेबसाइट में content लिखें हों। आइए इसे नीचे हम बेहतर तरीके से समझते हैं।

सबसे पहले आप अपने इमेज को choose करें। जिसे आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट में upload करने वाले हैं।

मान लीजिए कि आपने Digital Marketing में एक आर्टिकल लिखी। जिसमें आपने digital marketing क्या है? और digital marketing कैसे करें? के बारे में जानकारी दी। और आपने डिजिटल मार्केटिंग की ही एक इमेज अपने ब्लॉग या फिर वेबसाइट में अपलोड की।

आप अपने इमेज के alt text में Digital Marketing, Digital Marketing kya hai या Digital Marketing Kaise Kare जैसे alt text आप अपने इमेज के लिए दे सकते हैं। ध्यान रहे आपको अपने alt text के लिए उस text को लिखनी है । जो आसानी से समझ में आती हो।

Alt Text में आप अपने keywords का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप चाहें तो अपने related keywords का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। जो आपके लिखें गए content से मैच करती हो, आपके इमेज से जो मेल रखती हों।

इमेजेस को आप अपने लिखे गए कंटेंट के relevant ही रखें। और इमेज के relevant ही alt text दें। आप अपने content और images में relevancy का ध्यान रखें।


Image Optimization कैसे करें? ( How to do Image Optimization in SEO Hindi )

ब्लॉग और वेबसाइट के इमेजेस में alt text देना image optimization का ही एक हिस्सा है। हालांकि image optimization में और भी चीजों का ध्यान रखना होता है। जो हमारे इमेज को SEO friendly बनाने का काम करती है। जिसे हमें ध्यान में रखने की जरूरत होती है।

Relevant images को choose करें

ब्लॉग, वेबसाइट में उस टाइप के इमेजेस का यूज करें। जो आपके content से मेल खाती हो। जैसे अगर आपने एक SEO पर कंटेंट लिखा। तो आप SEO या SEO से ही मिलते जुलते इमेजेस का यूज करेंगें। इमेज को देखकर ही यूजर्स को यह पता चल जाता है कि कंटेंट किस बारे में है?

आप अपने कंटेंट में इमेजेस को उस जगह पर यूज करें। जिसमें कि इमेज का होना जरूरी होता है। उस जगह पर इमेज को यूज करें। जो आपके लिखे गए paragraph से मैच करती हो। आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट में कम से कम एक इमेज का यूज जरूर करें। यह यूजर्स को कंटेंट पढ़ने में बेहतर experience देने का काम करती है।


Copyright Free images का यूज करें

आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए Copyright Free Images का ही यूज करें। ताकि आपको आने वाले समय में किसी तरह की कॉपीराइट संबंधी समस्या न हो। इसके लिए आप कॉपीराइट free इमेज वेबसाइट्स Pixabay, Pexels, Unsplash, Max Pixel, Stocksnap जैसी वेबसाइट्स से free में इमेजेस को डाउनलोड कर सकते हैं। और अपने ब्लॉग और वेबसाइट में यूज कर सकते हैं।

वैसे तो गूगल इमेजेस से भी आपको अपने ब्लॉग, वेबसाइट के लिए इमेजेस मिल जायेगी। लेकिन गूगल के images आधे से ज्यादा कॉपीराइट protected होते हैं। और साथ ही ऐसे इमेजेस पहले से ही गूगल के database में index रहती है। इसलिए आप गूगल से इमेजेस को डाउनलोड न करें। नयी तरह की इमेजेस को अपने ब्लॉग और वेबसाइट में यूज करें। जो पहले से गूगल में index न हों।


Images को rename करें

आप अपने डाउनलोड किए हुए इमेजेस को rename करें। Rename में आप अपने इमेज के बारे में लिखें कि इमेज किस बारे में है? इमेज में क्या है? इसमें भी आप अपने keyword को यूज करके लिखें। आप चाहें तो इसमें अपने आर्टिकल के title का भी यूज कर सकते हैं।

Rename करते समय आप अपने keyword को small letters में लिखें। और एक word को दूसरे word से separate करने के लिए आप hyphen (-) का यूज करें। जैसे digital-marketing-kya-hai, seo-kaise-kare। आप कभी भी underscore (_) का यूज न करें।


Image का size कम रखें

एक ब्लॉग और वेबसाइट की loading speed उस साइट में यूज होने वाले इमेजेस के size पर भी निर्भर करती है। ज्यादा बड़ी साइज के images को load होने में ज्यादा समय लगता है। जो वेबसाइट के लिए अच्छी नहीं होती है।

वेबसाइट की स्पीड SEO में एक रैंकिंग फैक्टर होता है। जो वेबसाइट जल्दी open होती है। उस वेबसाइट को रैंकिंग में बहुत मदद मिलती है। गूगल भी अपने top results में उन्ही ब्लॉग्स और वेबसाइट्स को दिखाता है। जिसका लोड टाइम कम होता है। आप अपने एक इमेज के size को 100 kb तक या इससे कम ही रखने की कोशिश करें।


Image को compress करें

आप अपने इमेज के size को कम करने के लिए इमेज को compress करें। इंटरनेट पर ऐसे बहुत से वेबसाइट्स हैं। जिसकी मदद से आप अपने इमेज को compress करके उसके size को कम कर सकते हैं। इनकी मदद से आप अपने हिसाब के साइज में इमेजेस को compress कर सकते हैं। साथ ही इमेज के quality का भी ध्यान रखें।

Toolur, TinyPNG जैसी वेबसाइट से आप इमेजेस को compress कर सकते हैं। आप अपने इमेजेस को खुद से डिजाइन करने के लिए canva का भी यूज कर सकते हैं। इसमें भी आप अपने इमेजेस को अपने हिसाब से डिजाइन कर सकते हैं। इसमें अपने इमेज को डिजाइन करने के लिए बहुत सारे features और options मिल जाते हैं।


Benefits of image optimization:

  • Image optimization से इमेजेस यूजर्स और सर्च इंजन दोनों के लिए optimized की जाती है।
  • Image Optimization से इमेजेस भी गूगल में रैंक करती है।
  • Image optimization से ब्लॉग और वेबसाइट की स्पीड अच्छी होती है। वेबसाइट जल्दी load होती है।
  • Image Optimization से images SEO friendly हो जाती है। जो रैंकिंग के लिए अच्छी होती है।
  • इससे यूजर्स का experience बेहतर होता है।

हमें On Page SEO में image optimization का भी ध्यान रखना चाहिए। ताकि हमारे content के साथ साथ हमारे कंटेंट की इमेजेस भी गूगल में रैंक कर सकें।


निष्कर्ष

इमेजेस में Alt Text सर्च इंजन और यूजर्स दोनों के लिए उपयोगी साबित होता है। इसमें इमेज का नाम लिखा जाता है कि इमेज किस बारे में है? इमेज में क्या है? साथ ही image optimization के लिए भी alt text देना जरूरी होता है। इससे इमेजेस SEO optimized होती है।

अपने ब्लॉग और वेबसाइट में इमेजेस का इस्तेमाल करना जरूरी होता है। यह यूजर्स के experience को बेहतर बनाने का काम करती है। साथ ही इमेजेस paragraphs को अच्छी तरह से defined करने का काम करती है।

इस आर्टिकल में हमनें image optimization के बारे में जाना। आखिर Alt Text क्या है? और यह SEO के लिए क्यों जरूरी होता है? और image optimization कैसे करें? किन चीजों का ध्यान रखना होता है? आदि के बारे में हमने इस पोस्ट में जानकारी हासिल की।

आपको इस पोस्ट से अच्छी जानकारी मिली या नहीं? हमें कॉमेंट करके जरूर बताएं। जानकारी अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने किसी दोस्त, भाई, रिश्तेदारों को शेयर कर सकते हैं। जो blogging या digital marketing सीख रहें हो।

धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ