Search Engine Marketing क्या है? कैसे काम करता है

जब भी हम गूगल में कोई specific कीवर्ड टाइप करते हैं । तो हमें Search Engine Results Pages ( SERP ) में दो तरह के रिजल्ट्स दिखाई देते हैं । एक organic रिजल्ट्स और दूसरा paid रिजल्ट्स । SERP में organic रिजल्ट SEO के द्वारा दिखाई देता है । वहीं paid रिजल्ट्स या inorganic रिजल्ट्स हमें SEM ( Search Engine Marketing ) के द्वारा दिखाई देता है ।

हम अपनी ब्लॉग, वेबसाइट को गूगल में दो तरीकों से रैंक करा सकते हैं । एक SEO करके और दुसरा SEM करके । SEO में हम अपनी वेबसाइट को search engine के लिए optimized करते हैं । गूगल के रैंकिंग algorithms हमारे वेबसाइट को हर पैरामीटर्स पर चेक करती है । और जो भी वेबसाइट गूगल के इन algorithms में अच्छी होती है । वह गूगल के first page पर रैंक करती है ।

वहीं अगर SEM की बात करें । तो इसमें हम paid कैंपेन चलाते हैं । सर्च इंजन के रिजल्ट्स पेजेस में Ads run करते हैं । गूगल में अपनी वेबसाइट को रैंक कराने के लिए हम Google Ads को पैसे देते हैं । ये पैसे हम अपने ads चलाने के लिए खर्च करते हैं । SERP में ads चलाने के लिए हम गूगल AdWords, Bing Ads का यूज करते हैं ।

Search Engine Marketing kya hai


इस आर्टिकल में हम Search Engine Marketing के बारे में जानने वाले हैं । जानेंगे कि Search Engine Marketing क्या है? कैसे काम करता है? SEO और SEM में क्या अंतर है? Search Engine Marketing कैसे करें? आदि के बारे में हम इस पोस्ट में जानेंगे ।


Search Engine Marketing क्या है? ( What is SEM in Hindi )

SEM मार्केटिंग का एक form है । जिसमें वेबसाइट को promote करने, वेबसाइट की SERP में visibility बढ़ाने और साइट पर instant traffic लाने के लिए paid campaigns जाता है । इसमें हम paid advertising करते हैं । ये paid campaigns मुख्य रूप से Google Adwords और Bing ads पर चलाया जाता है । 


Search Engine Marketing कैसे काम करता है? ( How SEM works in Hindi )

Search Engine Marketing में हम किसी specific keyword पर bidding करते हैं । किसी specific keyword पर पैसा लगाते हैं । जब वह specific कीवर्ड गूगल में सर्च किया जाता है । तब हमारी वेबसाइट के ads गूगल के top results में दिखाई देती है । और यूजर्स द्वारा हमारे ads पर क्लिक होने पर हम Google Ads को पैसे देते हैं । हम इसे एक उदाहरण से समझते हैं ।

अगर आपकी कोई e-commerce वेबसाइट है । और आप चाहते हैं कि गूगल में "addidas shoes" इस एक specific keyword सर्च होने पर आपकी वेबसाइट के ads गूगल में सबसे ऊपर दिखाई दे । सबसे ऊपर रैंक करें । तो इसके लिए आपको Google Ads में "addidas shoes" इस specific keyword पर bid लगानी होती है । इस specific keyword पर पैसे लगानी होती है ।


Search Engine Marketing कैसे करें?

सर्च इंजन में marketing के लिए आप गूगल के ads platform गूगल Adwords का यूज कर सकते हैं । हालांकि वेबसाइट को promote करने के लिए आप Bing ads या बाकि Ads का भी यूज कर सकते हैं ।

अगर आज के समय की बात करें । तो आज के समय में गूगल Adwords का यूज सबसे ज्यादा किया जाता है । क्योंकि गूगल को यूज करने वाले यूजर्स की संख्या बाकि सर्च इंजन की तुलना में बहुत ज्यादा है । इसमें किसी भी ब्लॉग, वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक मिलता है ।

जैसा कि हमने आपको बताया की Search Engine Marketing के लिए किसी specific keyword पर bid लगानी होती है । जिससे कि हमारी वेबसाइट उस specific keyword सर्च होने पर हमारी वेबसाइट top में दिखाई दे ।

हमने आपको बताया की Bidding में किसी specific keyword पर पैसा लगाया जाता है । और यूजर्स द्वारा जब वह specific keyword सर्च किया जाता है । तो हमारी वेबसाइट सबसे top में दिखाई देती है । जब यूजर्स दिखाए ads के द्वारा हमारी वेबसाइट पर आते हैं । तो हमें Adwords को यूजर्स के clicks पर पैसे देने होते हैं ।

जैसे अगर आपने "addidas shoes" इस specific keyword पर ₹10 की bid लगायी है । और अगर कोई यूजर इस specific keyword सर्च करके आपके साइट पर आता है । तो आपको हर click पर गूगल Adwords को ₹10 चुकानी पड़ती है । आप अपने इस advertising budget को scheduled भी कर सकते हैं ।

Scheduled में अगर आप एक दिन में ₹100 का बजट set करते हैं । तो आपके वेबसाइट के ads पर 10 click होने पर आपकी एक दिन की budget पूरी हो जायेगी । और साथ ही में यह बजट खत्म होने पर आपके वेबसाइट के ads सर्च इंजन में दिखनी बंद हो जायेगी । 

जब तक आप अपने किसी keyword पर bid लगाते हैं । अपना budget सेट करते हैं । तब तक के लिए ही आपके वेबसाइट के ads show होती है । और जैसे ही आपका budget खत्म हो जाता है । आपके वेबसाइट पर traffic आनी बंद हो जाती है, आपके ads दिखने बंद हो जाते हैं ।

आप अपने वेबसाइट को online promote करने के लिए गूगल Adwords का यूज कर सकते हैं । इसमें आप अपने हिसाब से budget set कर सकते हैं । किसी specific location को target कर सकते हैं । किसी specific audience को target कर सकते हैं । अपने ads गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस ( SERP ) और पार्टनर वेबसाइट जैसे YouTube आदि में चला सकते हैं । 

अपने ads run करने के लिए आपको Adwords की अच्छी जानकारी होना बहुत जरूरी है । तभी आप अपने target audience, target location तक पहुंच सकते हैं । अपने वेबसाइट पर paid traffic ला सकते हैं ।


SEO और SEM में क्या अंतर है? ( Difference between SEO and SEM in Hindi )

SEO और SEM इन दोनों में हम सर्च इंजन को ही target करते हैं । और किसी specific keyword पर अपनी वेबसाइट को रैंक कराने की कोशिश करते हैं । 

SEO ( Search Engine Optimization )

SEO में हम अपनी वेबसाइट को किसी keyword पर रैंक कराने के लिए गूगल को पैसे नहीं देते हैं । यह free में होता है । इसमें हम साइट को सर्च इंजन के लिए optimized करते हैं । यूजर्स के लिए डिजाइन करते हैं । इसमें गूगल के algorithms हमारी वेबसाइट को बहुत सारे फैक्टर्स पर चेक करती है । और सारे फैक्टर्स में सही होने पर हमारी वेबसाइट गूगल के SERP में रैंक कर पाती है ।

SEO करने पर हमारी वेबसाइट में organic traffic आता है । SEO में हम अपनी वेबसाइट के लिए on page SEO और off page SEO करते हैं । जब हमारी सारी SEO efforts सही direction में होती है । तब जाकर हमारी वेबसाइट गूगल के SERP में धीरे धीरे रैंक कर पाती है ।

SEO एक time taking process है । जिसमें किसी भी वेबसाइट को रैंक करने के लिए 3 से 6 महीने तक का समय लग जाता है । यह समय उस वेबसाइट के कीवर्ड, उसके niche और niche की competitiveness पर निर्भर करती है कि वेबसाइट कितने समय बाद रैंक होगी ।


SEM

SEM में हम किसी specific keyword पर रैंक करने के लिए गूगल को पैसे देते हैं । इसमें हम अपनी वेबसाइट का paid advertising करते हैं । और यूजर्स द्वारा उस एक keyword से हमारे वेबसाइट में आने पर हम AdWords को पैसे चुकाते हैं । अपने कीवर्ड पर bidding करते हैं । Advertising के लिए हम गूगल Ads का यूज करते हैं । 

Search Engine Marketing करने पर हमारी वेबसाइट पर instant रिजल्ट देखने को मिलता है । हमारी वेबसाइट गूगल के टॉप रिजल्ट्स पर दिखाई देती है । वेबसाइट पर instant traffic देखने को मिलता है । जब तक हम अपने advertising पर पैसा लगाते हैं । तब तक हमारी साइट गूगल में रैंक करती है । जैसे ही हमारा advertising बजट खत्म हो जाता है । वैसे ही हमारी वेबसाइट पर traffic आनी बंद हो जाती है । SERP में रैंकिंग कम हो जाती है ।


निष्कर्ष

SEO में हम अपनी वेबसाइट पर traffic लाने के लिए कोई पैसे नहीं देते हैं । इसमें हमारी वेबसाइट organically रैंक होती है । SEO एक long term प्रोसेस है । जिसमें समय लगता है । वहीं SEM में हम अपनी वेबसाइट को रैंक कराने के लिए Google Ads का यूज करते हैं । इसमें हमें हमारी वेबसाइट पर quick result देखने को मिलता है । इससे हमारी वेबसाइट पर paid traffic आने लगता है ।

अगर आपकी कोई e-commerce वेबसाइट है । यह कोई school, coaching centre या कोई institute आदि की वेबसाइट है । तब आप SEM की तरफ जा सकते हैं । वहीं अगर आपकी कोई ब्लॉग, वेबसाइट है । जिसमें आप normal articles लिखते हैं । तब आपको अपने ब्लॉग, वेबसाइट को रैंक कराने के लिए SEO करनी चाहिए । 

SEO ( Search Engine Optimization ) भले ही एक time taking प्रोसेस है । लेकिन SEO करके आप अपने ब्लॉग, वेबसाइट को SERP में लंबे समय तक रैंक करा सकते हैं । और इसके लिए आपको कोई पैसे नहीं चुकाने होते हैं । यह पूरी तरह से गूगल free में करता है ।

आपको हमारी यह पोस्ट Search Engine Marketing क्या है? कैसे काम करता है? कैसी लगी हमें जरुर बताएं । 

साथ ही अगर आपको इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल हो ।

तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं ।

धन्यवाद


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ