Google का Rankbrain Algorithm क्या है? कैसे काम करता है?

हम जैसे ही सर्च इंजन का नाम लेते हैं । तो हम सब के दिमाग में जो पहला नाम आता है वह है "Google" । वो इसलिए क्योंकि आज गूगल दुनिया का सबसे ज्यादा पॉपुलर सर्च इंजन है । जिसे पूरे वर्ल्ड वाइड में सबसे ज्यादा यूज किया जाता है । 

गूगल को पूरे दुनिया में ज्यादा से ज्यादा यूज करने के बहुत से कारण हैं । जैसे दुनिया भर में इसकी popularity, क्वॉलिटी रिजल्ट्स, एक्यूरेट, अच्छा यूजर इंटरफेस, यूजर्स के क्वेरी के रिलेवेंट रिजल्ट्स, फास्ट रिजल्ट्स आदि ।

इन सारे फैक्टर्स को गूगल अपने एल्गोरिथम की मदद से बहुत ही बेहतर तरीके से यूजर्स के सामने ला पाता है । इसे दुनिया का सबसे सफल सर्च इंजन बनाने में गूगल के ही अपने algorithms का बहुत बड़ा योगदान है । 

गूगल के करिब 200 से ज्यादा रैंकिंग फैक्टर्स हैं । जिन्हें की एल्गोरिथम ( algorithms ) कहा जाता है । ये सारे एल्गोरिथम मुख्य रूप से सर्च इंजन के रिजल्ट्स को और भी ज्यादा फास्ट, रिलेवेंट, एक्यूरेट बनाने का काम करती है । जिससे कि यूजर्स को बेस्ट सर्च एक्सपीरियंस मिल सकें । 

गूगल के ये एल्गोरिथम इन्टरनेट की सारी वेबसाइट्स को चेक करके साइट्स की data को analyse करते हैं । जब कोई यूजर गूगल में कोई कीवर्ड सर्च करता है । तो ये एल्गोरिथम यूजर के क्वेरी के रिलेवेंट data को अपने सर्वर में चेक करता है । और चेक करने के बाद यूजर्स को सबसे बेहतर रिजल्ट्स SERP में show करता है ।

जिस वेबसाइट की रिजल्ट्स ( आर्टिकल ) सबसे बेहतर, सबसे अच्छी और जो यूजर्स के क्वेरी के रिलेवेंट होती है । वह सबसे पहले दिखाई देती है । और इसी क्रम में बाकि वेबसाइट्स के रिजल्ट्स यूजर्स को दिखाया जाता है । 

गूगल यूजर्स के क्वेरी के रिलेवेंट रिजल्ट्स दिखाता है । किस रिजल्ट को सबसे पहले दिखाना है । और किसे बाद में दिखाना है । इसे गूगल के अलग अलग एल्गोरिथम ही डिसाइड करते हैं । और रिजल्ट्स show करते हैं ।

जब भी हम गूगल में कोई कीवर्ड सर्च करते हैं । और सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस ( SERP ) में जो रिजल्ट्स हमारे क्वेरी के रिलेवेंट दिखाया जाता है । वह पूर्ण रूप से इन्ही एल्गोरिथम की मदद से होता है । यूजर्स के according रिजल्ट्स दिखाने का काम ये सारे एल्गोरिथम ही करते हैं ।

Google Rankbrain Algorithm kya hai


इस आर्टिकल में हम गूगल के ही एक पॉपुलर रैंकिंग एल्गोरिथम 'Rankbrain' के बारे में जानने वाले हैं । जो कि SERP में अपना अहम भूमिका निभाता है । इस आर्टिकल में हम Google का Rankbrain Algorithm क्या है? कैसे काम करता है? इस एल्गोरिथम की मदद से हम अपने आर्टिकल को कैसे रैंक करा सकते हैं? आदि जानकारियां हम इस आर्टिकल में जानेंगे । 


Google का Rankbrain Algorithm क्या है?

Google का Rankbrain Algorithm किसी वेबसाइट के dual time और CTR जैसे दो मुख्य factor पर काम करता है । जिस वेबसाइट का dual time और CTR अच्छा होता है । उसे यह एल्गोरिथम रैंक कराता है । गूगल का Rankbrain Algorithm 26 अक्टूबर, 2015 को लॉन्च किया गया था ।


Dual Time क्या होता है?

Dual Time उस particular समय अंतराल को कहते हैं । जिसमें यूजर्स किसी वेबसाइट पर जाता है । वेबसाइट के कंटेंट को पढ़ता है । और कुछ समय के बाद उस साइट से एक्जिट कर जाता है । इसे वेबसाइट का dual time कहते हैं । 

जिस वेबसाइट का dual time अच्छा होता है । उसे गूगल का Rankbrain Algorithm ज्यादा वैल्यू देता है । और उस वेबसाइट की रैंकिंग को सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस में बढ़ाने का काम करता है । रैंकिंग को अच्छा करता है ।


Dual Time अच्छा कैसे करें?

नीचे कुछ मुख्य पॉइंट्स हैं । जिसकी मदद से हम अपनी वेबसाइट के dual time को अच्छा कर सकते हैं । जिससे कि गूगल का Rankbrain Algorithm हमारे साइट को SERP में रैंक कराने में हमारी मदद करें । 

  1. वेबसाइट के dual time को अच्छा करने के लिए सबसे पहले हमें हमारे आर्टिकल को पूरी तरह से यूजर्स के लिए डिजाइन करनी चाहिए । अच्छे और क्वालिटी कंटेंट अपने वेबसाइट पर पोस्ट करनी चाहिए । जिससे कि यूजर्स हमारे आर्टिकल को पसन्द करे । और यूजर्स ज्यादा से ज्यादा संख्या में हमारे आर्टिकल को पढ़े ।
  2. अच्छे और क्वालिटी कंटेंट लिखते समय हमें यह कोशिश करनी चाहिए कि हमारे द्वारा लिखी जा रही कंटेंट की लेंथ थोड़ी बड़ी हो । वो इसलिए क्योंकि इससे यूजर्स ज्यादा से ज्यादा समय तक हमारे वेबसाइट पर रुकेगा । और हमारे आर्टिकल को पढ़ेगा ।
  3. अगर हम अपने वेबसाइट के कंटेंट को छोटा लिख रहे हैं । और वह कंटेंट यूजर्स को अच्छी जानकारी प्रोवाइड कर रही है । क्वालिटी कंटेंट भी लिखी हुई है । तो इससे भी हमारा dual time कम होता है । वो इसलिए क्योंकि अगर आपके आर्टिकल की length बड़ी नहीं होगी तो यूजर आर्टिकल को तुरंत पढ़कर साइट से वापस चला जायेगा ।
  4. जब यूजर आपके वेबसाइट से तुरन्त एग्जिट कर जायेगा । तो गूगल को लगेगा कि आपके द्वारा लिखा गया आर्टिकल अच्छा नहीं है । इसलिए यूजर्स तुरंत ही आपकी साइट से वापस जा रहें हैं । ऐसा होने से वेबसाइट कभी भी सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस में रैंक हासिल नहीं कर पाएगी ।
  5. इसलिए हमें यह कोशिश करनी चाहिए कि हमारे आर्टिकल की लेंथ थोड़ी बड़ी हो । साथ ही यूजर्स के हिसाब की हो । जिसमें बेहतर कंटेंट लिखी गई हो । ताकि यूजर्स हमारे वेबसाइट पर कुछ समय तक रुके । हमारे आर्टिकल को पढ़े । जिससे की हमारे साइट की dual time अच्छी बनी रहे ।
  6. जब यूजर्स हमारे वेबसाइट से तुरंत एग्जिट कर जाते हैं । तो इससे हमारे साइट का bounce rate भी बढ़ता है । Bounce rate का बढ़ना किसी भी वेबसाइट के लिए अच्छी नहीं होती है । ये वेबसाइट को SERP में रैंक होने से रोकती है । जो की बिल्कुल भी अच्छी बात नहीं है ।

ये वो कुछ जरूरी पॉइंट्स हैं । जिसकी मदद से हम अपने वेबसाइट की dual time को बढ़ा सकते हैं । और अपनी वेबसाइट की रैंकिंग को अच्छा कर सकते हैं । आइये जानते हैं अब Rankbrain के दूसरे रैंकिंग फैक्टर CTR के बारे में जिसपर यह एल्गोरिथम काम करता है । 


CTR क्या है? ( What is Click Through Rate )

किसी वेबसाइट के total impressions में से जितने impressions क्लिक्स में convert होते हैं । उसे CTR ( Click Through Rate ) कहा जाता है । किसी वेबसाइट का CTR तभी अच्छा होता है । जब उस साइट का title और description यूजर्स को पसंद आता है । जो यूजर्स को attract करता है ।


CTR अच्छा कैसे करें?

अपने वेबसाइट के ट्रैफिक को बढ़ाने के लिए हमें हमारे आर्टिकल के title और meta description को अच्छा रखने की जरूरत होती है । नीचे दिए गए पॉइंट्स से हम अपनी वेबसाइट के CTR को बेहतर कर सकते हैं । 

  1. जब यूजर गूगल में कोई कीवर्ड सर्च करता है । तो यूजर को सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस में हर वेबसाइट का सिर्फ title और meta description ही दिखाई देता है । इसलिए हमें यह कोशिश करनी चाहिए कि हमारे आर्टिकल का title और meta description यूजर्स को attract करता हो ।
  2. जिस वेबसाइट का title और meta description यूजर्स को attract करता है । उस वेबसाइट पर यूजर्स सबसे ज्यादा visit करते हैं । उस वेबसाइट का CTR अच्छा होता है । साथ ही इससे साइट की ट्रैफिक भी अच्छी होती है ।
  3. हमें हमेशा यह कोशिश करनी चाहिए कि हमारे आर्टिकल का टाइटल छोटा हो । जिसमें हमारे आर्टिकल का main keyword हो । जो यूजर्स को अच्छे से समझ में आए कि हमारा आर्टिकल किसके बारे में लिखा गया है ।
  4. हमें हमारे आर्टिकल के title की लेंथ को 60 से 70 characters तक रखनी चाहिए । इससे हमारे पोस्ट के रैंक होने के चांसेज काफी बढ़ जाती है । ज्यादा बड़े title SERP में यूजर्स को पूरी तरह से नहीं दिखाई देती है । और इससे यूजर्स हमारे टाइटल को पूरा नहीं पढ़ पाते हैं ।
  5. इसी तरह हमें अपने आर्टिकल के meta description को भी लिखनी चाहिए । यह 150 characters तक में लिखी जाती है । इसमें अपने आर्टिकल का एक छोटा सा description लिखा जाता है । इस description में आर्टिकल किस के बारे में है? लिखा जाता है ।
  6. जब सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस ( SERP ) में यूजर्स के क्वेरी के रिलेवेंट रिजल्ट्स दिखाया जाता है । तो यह जरूरी नहीं है कि सारे यूजर्स पहले वाले ही रिजल्ट पर क्लिक करें । यूजर नीचे scroll करता है । और बाकि रिजल्ट्स के title और meta description को पढ़ता है । जो यूजर को अच्छा लगता है । उस पर वह क्लिक करता है ।
  7. आर्टिकल का title और meta description SEO के नजरिए से भी ज्यादा महत्व रखता है । जितना अच्छा हमारे आर्टिकल का टाइटल और डिस्क्रिप्शन होगा । उतने ज्यादा impressions और clicks हमारी वेबसाइट पर आयेगी । और हमारे वेबसाइट की रैंकिंग SERP में अच्छी होगी ।


निष्कर्ष

Google का Rankbrain Algorithm वेबसाइट की अच्छी dual time और अच्छी CTR के आधार पर वेबसाइट्स को रैंक कराने का काम करती है । जिस वेबसाइट की dual time अच्छी होगी । और साथ ही जिसकी CTR अच्छी होगी । वह वेबसाइट गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट्स पेजेस पर ज्यादा रैंक कर पायेगी ।

वेबसाइट का dual time और CTR दोनों आपस में बहुत ज्यादा रिलेट करते हैं । अगर किसी वेबसाइट का CTR अच्छा है । तो बहुत सारे यूजर्स उस वेबसाइट पर जायेंगे । और साइट का dual time तभी अच्छा होगा । जब उस साइट का कंटेंट यूजर्स को बहुत ज्यादा पसंद आएगा । 

इस आर्टिकल में हमनें गूगल के Rankbrain एल्गोरिथम के बारे में जाना । Google का Rankbrain Algorithm क्या है? कैसे काम करता है? जानकारी आपको कैसी लगी? हमें जरूर बताएं । साथ ही आप चाहें तो इस पोस्ट को अपने दोस्त, भाई, रिश्तेदारों को शेयर कर सकते हैं । जो कि ब्लॉगिंग या डिजिटल मार्केटिंग सीख रहें हो ।

धन्यवाद


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ