बेसिक Article Writing tips जाने हिंदी में

हर कोई एक अच्छा article writer नहीं होता और हर किसी को अच्छी article writing नही आती । लेकीन लगातार प्रेक्टिस करने से एक अच्छा और बेहतर आर्टिकल राइटर बना जा सकता है ।

प्रेक्टिस ही एक मात्र उपाय है जिसे करके किसी भी तरह के मुश्किल काम को आसान बनाया जा सकता है । शुरुआती प्रेक्टिस से भले ही आपको अपने काम में अच्छे रिजल्ट्स न मिले । लेकीन लगातार इसे करने से आपको अच्छे रिजल्ट्स जरूर मिलेंगे ।

एक अच्छा article writing आने के लिए भी प्रेक्टिस की जरूरत होती है । सिर्फ लिख देना ही article writing नहीं होता । उसे पढ़कर लोगों को कुछ जानकारी भी मिलनी चाहिए ।

Article writing tips in Hindi

अगर आपकी कोई एक वेबसाइट है जिसमें आप आर्टिकल लिखते हैं या फिर आप एक अच्छा article writer बनाना चाहते हैं । तो इस पोस्ट में हम आपको बेसिक article writing tips के बारे में बताएंगे जो आपके writing skill को और भी ज्यादा बेहतर बनाने में काफ़ी मदद करेगी ।

इस पोस्ट में हम आर्टिकल लिखते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे कि आर्टिकल को अच्छे और बेहतर तरीके से लोगों के सामने present कर सकें, के बारे में जानेंगे । नीचे कुछ पॉइंट्स दिए गए हैं जिसकी मदद से हम अपने आर्टिकल को अच्छा और बेहतर बना सकते हैं ।


Topic

जो सबसे पहले आता है वह है अपने टॉपिक के बारे में पता होना कि आप किस topic, niche में अपना आर्टिकल लिखना चाहते हैं । आप उस टॉपिक को choose करें जिसके बारे में आपको बहुत अच्छी जानकारी हो ।

जैसे अगर आपका टॉपिक ब्लॉगिंग है और आप ब्लॉगिंग में आर्टिकल्स लिखना चाहते हैं तो आपको SEO और digital marketing के बारे में बहुत अच्छी जानकारी होनी चाहिए । जो आपके आर्टिकल को लोगों के सामने अच्छी तरह से प्रस्तुत करने में बहुत ज्यादा काम आती है ।


Article 

जब भी आप किसी टॉपिक पर आर्टिकल के लिए कंटेंट लिख रहे होते हैं तो आपको एक कंटेंट राइटर की तरह नहीं बल्कि यूजर्स को ध्यान में रखकर आर्टिकल लिखना चाहिए कि आखिर यूजर क्या पढ़ना पसंद करता है ।

अपने आप को एक यूजर के जगह पर रखकर अपना आर्टिकल लिखें । इसके द्वारा आप उस तरह का कंटेंट लिख पाएंगे जो यूजर्स द्वारा पसंद किया जाता है । उन सवालों के बारे में जान पाएंगे जिनके जवाब यूजर्स को चाहिए होते हैं ।

आप हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि आप जो भी और जिस भी तरह का कंटेंट लिख रहे हैं वह सिर्फ यूजर के लिए ही होनी चाहिए । जिससे यूजर्स को किसी तरह की अच्छी जानकारी प्राप्त होती हो । कभी भी सर्च इंजन को ध्यान में रखकर आर्टिकल न लिखें । 

आप जो भी पोस्ट लिखेंगे उसे यूजर ही पढ़ेंगे न कि सर्च इंजन । जब यूजर्स को कोई आर्टिकल काफी ज्याफा पसंद आता है तो उस पोस्ट पर ट्रैफिक भी ज्यादा आता है । जब किसी पोस्ट पर ट्रैफिक बहुत ज्यादा आता है तो गूगल की नजर उस आर्टिकल पर जाती है ।

गूगल और बाकी सर्च इंजन किसी आर्टिकल को यूजर्स के पसंद पर रैंकिंग देता है । यह हमें गूगल के SERP ( Search Engine Results Pages ) में भी देखने को मिलती है । जिस आर्टिकल को यूजर्स सबसे ज्यादा पसंद करते हैं वह पोस्ट सबसे पहले दिखाई देती है । और इसी तरह लोगों के पसंद के अनुसार बाकी सारे आर्टिकल्स हमें सर्च रिजल्ट्स पर देखने को मिलती है ।

इसलिए बेहतर है कि आप यूजर्स द्वारा पसंद आने वाले कंटेंट्स को अपने ब्लॉग या वेबसाइट में यूज करें । जो यूजर्स के relevant हो और यूजर्स द्वारा पढ़े जाने पर उनको कुछ अच्छी जानकारी प्राप्त होती हो ।


Paragraph

जब भी आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिखें तो आप उसमें अपने paragraph को छोटा रखने की कोशिश करें । ज्यादा बड़े paragraph को पढ़ने में यूजर्स को परेशानी होती है । आप कोशिश करें कि आपका एक paragraph पांच से छह lines में पूरी हो ।

Paragraph में आप छोटे sentences लिखें और साथ ही sentences के वर्ड्स को simple रखें । जिसे हर किसी के द्वारा आसानी से पढ़ा और समझा जा सके । छोटे और आसान वर्ड्स के पैराग्राफ के रैंक होने के chances भी काफी अच्छे होते हैं ।


Research 

आप जिस भी टॉपिक पर अपना आर्टिकल लिख रहे हैं उस टॉपिक के बारे में आपको लगातार रिसर्च और अपडेट रहने की जरूरत होती है । आपको अपने पोस्ट में कुछ भी कल्पनिक नहीं लिखना है । उन बातों को अपने पोस्ट में लिखे जिसमें कोई लॉजिक हो, जिसमें कोई सच्चाई हो । जो किसी फैक्ट्स के बारे में जानकारी देता हो ।

लगातार रिसर्च करने से हमें बहुत सारी नयी जानकारियां मिलती है । यूजर्स को हमेशा ही नयी तरह की जानकारी पसंद आती है । इससे यूजर्स के साथ - साथ हमें भी हमारे काम की अच्छी जानकारी मिल जाती है । 


Save as Draft

जब भी आप कोई आर्टिकल लिख रहे होते हैं तो आप आर्टिकल पूरा लिखने के बाद उसे तुरंत पब्लिश न करें । वो इसलिए क्योंकि कई बार हमसे कुछ न कुछ छोटी - छोटी राइटिंग mistakes हो जाती है । जिसे हमें ठीक करने की जरूरत होती है ।

सबसे पहले आप खुद अपने आर्टिकल को पढ़िए और समझिए कि आपने जो लिखा है वह समझ में आ रही है कि नही । आप अपने आर्टिकल में जितना हो सके आसान शब्दों का इस्तेमाल करें क्योंकि आसान शब्द हर किसी को आसानी से समझ में आ जाती है ।

आर्टिकल पढ़ते समय आप इस बात का ध्यान रखें कि वह अच्छे तरीके से लिखा गया है या नही । आपने अपने कंटेंट में जिन process, procedures के बारे में बताया है वह पूरी और अच्छी तरह से लिखी हुई है या फिर नही ।

आपने जिस भी तरह के content को अपने आर्टिकल में यूज किया है उसे पढ़े और पढ़ने के बाद उससे output निकाले कि आपने जो भी कंटेंट लिखा है उससे यूजर्स को कोई अच्छी जानकारी प्राप्त होगी कि नहीं ।

अपने आर्टिकल को हमेशा बेहतर बनाने की कोशिश करें । अगर कोई बात रह गई हो, या कोई steps जिसके बारे में आपको लगता है कि इस step को और भी अच्छे तरीके से लिखना चाहिए तो आप उसे और भी अच्छे तरीके से लिखने की कोशिश करें ।

आप जितने बार changes करेंगे, जितने ज्यादा improvement और नयी - नयी जानकारियां लिखेंगे ये सारे आपके द्वारा लिखे गए आर्टिकल को और भी ज्यादा valuable बनाएगी । और इससे आपके पोस्ट को पढ़ने वाले यूजर्स की संख्या भी बढ़ेगी ।


Specific

Specific का मतलब यह है कि आप समय के साथ अपने टॉपिक में changes न करें । जैसे अगर आप ब्लॉगिंग में आर्टिकल्स लिख रहे हैं तो कुछ समय बाद आप फिटनेस और हेल्थ के बारे में कंटेंट लिख उसे अपने ब्लॉग में पब्लिश न करें ।

इससे सर्च इंजन को आपके ब्लॉग को समझने में परेशानी होती है । साथ ही इससे यूजर्स का interest भी आपके ब्लॉग को पढ़ने में नही आता है ।

अगर आपने ब्लॉगिंग में अपना ब्लॉग बनाया है और आपने बहुत ही अच्छे content अपने ब्लॉग में पब्लिश किया है जो यूजर्स को काफी ज्यादा पसंद आ रही है तो सामान्यता यूजर्स आपके ब्लॉग के बाकी सारे पोस्ट्स को भी पढ़ना चाहेंगे ।

अगर ब्लॉगिंग से मिलते जुलते कंटेंट न मिलकर किसी दूसरे टॉपिक पर कंटेंट लिखा देख यूजर तुरंत ही उस वेबसाइट को छोड़कर किसी दुसरे साइट पर चला जाएगा । इसलिए specific रहे और किसी एक टॉपिक पर अपना आर्टिकल लिखते रहिए ।


Keyword 

एक आर्टिकल लिखने में हम जिन words पर सबसे ज्यादा फोकस कर आर्टिकल लिखते हैं वो हमारे कीवर्ड होते हैं । जो किसी पोस्ट की रैंकिंग और ट्रैफिक के लिए जरूरी होता है ।

आप एक आर्टिकल लिखने से पहले अपने कीवर्ड को choose कर लें । जिसे आप अपने कंटेंट में यूज करेंगे । कीवर्ड रिसर्च करने के बाद ही आप आर्टिकल लिखें । कभी भी आर्टिकल लिख लेने के बाद कीवर्ड रिसर्च न करें ।

ऐसा नहीं करना है कि आपने एक पूरा का पूरा आर्टिकल लिखा उसके बाद आप कीवर्ड रिसर्च करें । इससे आपका आर्टिकल एक proper आर्टिकल नहीं लगेगा । इसलिए बेहतर है कि आप पहले ही अपने keywords को choose कर ले । उसके बाद आर्टिकल लिखें ।


Read Revise Read

आप अपने आर्टिकल को पूरा लिखे उसे पढ़े और समझने की कोशिश करें । कोई प्वाइंट miss होने पर आप उस प्वाइंट को कवर करें । पॉइंट्स cover करने के बाद आप आर्टिकल को फिर से पढ़े ।

आप अपने आर्टिकल को खुद से पढ़े या फिर किसी दुसरे को पढ़ने को दें । उनसे output लें कि आखिर उन्हें इसे पढ़कर क्या समझ में आया । आपके द्वारा लिखा गया कंटेंट हर किसी को अच्छे से समझ में आनी चाहिए । जितनी बार आपको लगे कि इसमें और ज्यादा सुधार की ज़रूरत है उतनी बार आप आर्टिकल में सुधार करें ।

इससे होगा ये कि आप जितनी बार अपने आर्टिकल में changes करेंगे, उसमें नए - नए चीजें add करेंगें उतनी ज्यादा आपकी पोस्ट valuable बनती जायेगी । इसलिए नए - नए changes और अपडेट्स करने की कोशिश करते रहें ।


Practise 

Article writing एक skill है जो हर तरह के blogger चाहे वह नया हो या पुराना, उन्हें अच्छी writing आनी ही चाहिए । हालांकि अच्छी article writing के लिए बहुत ज्यादा practise करने की जरूरत होती है ।

आप भले ही अपने आर्टिकल में SEO में ज्यादा फोकस करते हो, link building, technical SEO पर ही क्यूं न फोकस करते हो आपको अच्छी राइटिंग आनी ही चाहिए । जब आप अच्छा लिखना जानते हैं तभी आप एक अच्छे content को पहचान पाते हैं ।



निष्कर्ष

आप सिर्फ कुछ दिनों में या कुछ महीनों में अच्छा content writing नहीं सीख सकते । इसमें practise करने की जरूरत होती है । आप जितनी ज्यादा practise करेंगे उतनी ज्यादा आपकी content writing skill और भी ज्यादा बेहतर बनते जायेगी ।

ब्लॉग या वेबसाइट के लिए content लिखते समय आप यूजर की तरह से सोचें । यूजर के ज्यादा क्वेरी question based होते हैं । जैसे ब्लॉगिंग क्या है? ब्लॉगिंग कैसे करते हैं? ब्लॉग कैसे बनाते हैं? आदि । इसलिए आप कोशिश करें उन questions के जवाब में आप अच्छे से content writing करें ।

सबसे पहले आप एक टॉपिक सेलेक्ट करें । फिर उस टॉपिक पर यूजर्स की need को देखें कि यूजर क्या पढ़ना पसंद करता है? आपको अच्छी तरह से अपने टॉपिक पर रिसर्च करनी है और साथ ही अपने कीवर्ड पर फोकस कर अपने आर्टिकल को specific बनाना है ।

जब भी कोई पोस्ट यूजर्स द्वारा बहुत ज्यादा पसंद किया जाता है । जिसमें बहुत अच्छी जानकारी लिखी हुई होती है । तो यूजर उस पोस्ट को सोशल मीडिया जैसे फेसबुक पेज, ट्विटर, Instagram, Tumblr और भी बहुत सारे sharing platforms में शेयर करते हैं ।

इससे हमारी पोस्ट और भी ज्यादा लोगों तक पहुंचती है । जिससे हमारे वेबसाइट पर ट्रैफिक भी बहुत increase होती है । और साथ ही हमारे वेबसाइट की एक तरह से branding भी हो जाती है । इसलिए अच्छा और बेहतर कंटेंट लिखने की कोशिश करते रहें ।

ये वो कुछ बेसिक article writing tips हैं जो एक आर्टिकल को यूजर्स के सामने अच्छे से present करने के लिए बहुत जरूरी होता है । 

Article writing tips पोस्ट आपको कैसी लगी? हमें जरूर बताएं । अगर आप इस पोस्ट से संबंधित किसी भी तरह के सुझाव देना चाहते हो तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं । अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो आप इस पोस्ट को शेयर भी कर सकते हैं । 

धन्यवाद


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ