Heading H1, H2, H3 tags क्या है?

Blogging में आर्टिकल का title और description के बाद on-page SEO में जो ज्यादा important है वह है Heading, Subheading tags का सही से use करना । यह SEO में बहुत महत्वूर्ण है । इस आर्टिकल में आप यह जानेंगे कि Heading tags H1, H2, H3, H4, H5 और H6 क्या है । SEO में क्यों जरूरी है, और इनको आर्टिकल में कैसे use किया जाता है । जिससे की आपका आर्टिकल अच्छी तरह से search engine के मुताबिक optimized हो सके ।

Headings tag एक HTML ( HyperText Markup Language ) है जो किसी वेबसाइट के headings और subheadings को indicate करता है । यह H1 से लेकर H6 तक होता है । इन tags का use करके हम Google के crawler को बताते हैं कि हमारा आर्टिकल किस विषय में लिखा गया है । साथ ही हमारे आर्टिकल का structure भी इन्ही tags के द्वारा crawler/bots को पता चलता है ।

Google के crawler आर्टिकल को Headings tags ( H1 से H6 ) के आधार पर content की valuation करते हैं । जिसमें H1 tag सबसे ज्यादा important होता है क्योंकि यही tag पूरे आर्टिकल का main heading होता है, title होता है जिससे आर्टिकल के बारे में पता चलता है, आर्टिकल किस topic या किस keyword पर लिखा गया है । 


H1 tag क्या है?

यह आर्टिकल का सबसे ज्यादा important रखने वाला heading टैग है । जब crawler आपके वेब पेज पर आते हैं तो वो सबसे पहले H1 tag ( जिसमें आर्टिकल का title लिखा जाता है ) को ढूंढते हैं और जानने की कोशिश करते हैं, आर्टिकल किस subject/topic पर लिखा गया है ।

साथ ही यह यूजर के behalf से भी काफ़ी महत्वपूर्ण है । जब यूजर आपके title और description को देख कर आपके पेज पर आते हैं तो वे H1 ( main heading ) tag को देखते हैं जो बाक़ी tags H2, H3, H4, H5 और H6 से बड़ा होता है जो कि एक notable एलीमेंट होता है, सबसे पहले दिखता है । इन टैग्स का use करने से यूजर को आर्टिकल, पढ़ने और समझने में आसानी होती है ।


H1 tag कैसे यूज करें?

एक आर्टिकल में सिर्फ एक ही H1 tag को use करना चाहिए । यह टैग गूगल के crawler को हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल का information देने के काम आता है कि हमारा पेज किस niche से है, किस बारे में, किसके लिए लिखा गया है, आदि । सभी जानकारी H1 टैग की मदद से Google को मिलती है, जोकि बहुत enough/important है बाक़ी टैग्स के मुकाबले । इसलिए यह बहुत जरूरी होता है ।

अगर आप एक से ज्यादा H1 का use करते हैं जैसे अगर आपने SEO पर एक आर्टिकल लिखा जिसमें आपने "SEO क्या है" और "SEO कैसे करते हैं" इन दो keywords को आप H1 टैग देते हैं तो यह Google द्वारा H1 tag को दी जाने वाले वाली value/priority को distribute करने का काम करता है जिससे कि आपका आर्टिकल ज्यादा valuable नहीं रह पाता है और search engine में अच्छे से रैंक होने के chances कम हो जाते हैं । इसलिए बेहतर है कि आप एक आर्टिकल में एक ही H1 टैग का use करें ।

H1 tag की Length: यह 20 से 70 characters के होने चाहिए । आप lettercount जैसे टूल का इस्तेमाल कर के अपने main title के characters की length चेक कर सकते हैं । जितना हो सके आप इसकी length को कम ही रखें, यह रैंकिंग के लिए अच्छी मानी जाती है ।


H1 टैग में ध्यान रखने योग्य

  • इसमें आप अपना main कीवर्ड रखें । आप Long-tail keywords का भी use कर सकते हैं । 
  • जो नए blogger हैं यह blogging में नए हैं उन्हें long-tail keywords में ही काम करना चाहिए । ये कीवर्ड बाक़ी keywords के मुक़ाबले ज्यादा competitive नहीं होते और ज्यादा meaningful होते हैं ।
  • Long-tail keywords का आपने आर्टिकल के title में use करने का एक फ़ायदा यह भी है कि इससे आपके आर्टिकल के जो छोटे कीवर्ड होते हैं उन्हें रैंक करने में मदद मिलती है ।
  • आप H1 टैग को कुछ इस तरह से रखें जिससे कि यूजर का intent fulfil हो सके । जैसे अगर आपने आर्टिकल का title "Ten tips to grow on SEO" दिया है और कोई यूजर जो SEO में अच्छे से grow करने के टिप्स के बारे में जानना चाहता है तो chances काफ़ी बढ़ जाता है कि वह आपके title को क्लिक करके आपके वेब पेज पर आएगा और आपके आर्टिकल को पढ़ना चाहेगा ।


Subheading H2 Tag क्या है?

आर्टिकल में H1 के बाद जो महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है वह H2 tag होता है जिसे subheading बोला जाता है । जो H1 के मुक़ाबले थोड़ा छोटा होता है, कम valuable होता है। 


H3 Tag: यह H2 से छोटा होता है जिसे minor heading बोला जाता है । जो H2 से कम valuable होता है ।


H4 Tag: यह H3 से छोटा होता है ।


H5 Tag: इसे पैराग्राफ को define करने के लिए use किया जाता है । जो H4 से कम valuable होता है ।


H6 Tag: यह एक default Tag है। जिसे use करने की जरूरत नहीं होती क्योंकि आप जिस text साइज़ में अपना आर्टिकल लिखते हैं वह इसी टैग में होता है, इसे normal कहा जाता है ।


Heading H1, H2, H3 tags kya hai

Blogger में Major Heading को H1, Heading को H2, Subheading को H3, Minor Heading को H4, Paragraph को H5, Normal टेक्स्ट को H6 में बांटा गया है । 

Heading H1, H2, H3 tags kya hai

जिसमें आपको Major Heading टैग को use करने की जरूरत नहीं है क्योंकि blogger में आर्टिकल का title default H1 टैग में ही होता है । लेकिन WordPress में default जैसा कुछ नहीं है इसमें आप अपने आर्टिकल के title को अपने मुताबिक़ टैग दे सकते हैं ।


निष्कर्ष

Headings टैग ( H1 से H6 ) आपके द्वारा लिखे गए आर्टिकल का structure डिफाइन करता है । सभी तरह के heading टैग्स की अपनी एक डिफॉल्ट साइज़ होती है जो text में use करने पर दिखती है । आप इसके साइज़ को अपने हिसाब से कम ज्यादा भी कर सकते हैं । साइज़ apply करने पर headings और subheadings के टैग्स में कोई changes नहीं होता है ।


अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो यह आप इस पोस्ट को लेकर किसी भी तरह के सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं हमें ख़ुशी होगी ।

धन्यवाद


एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ